comscore
News

गूगल ट्रांसलेट अॉफलाइन मशीन लर्निंग के जरिए होगा बेहतर

इससे पहले गूगल ट्रांसलेट अॉनलाइन में मशीन लर्निंग का इस्तेमाल दो साल पहले शुरू हो चुका है।

Google_Translate_logo

गूगल हमारे जीवन को आसान बनाने में एक लंबा सफर तय कर चुका है। आज हम अपने जीवन में हर रोज कोई ना कोई गूगल के प्रोडक्ट का यूज करते हैं। गूगल ट्रांसलेट कंपनी के उन प्रोडक्ट्स में से एक है जो ट्रैवलर्स के लिए एक वरदान से कम नहीं है। गूगल ट्रांसलेट टेक्निकल तौर पर ठीक काम करता है, लेकिन इसमें सुधार की हमेशा जरूरत रहती है।

गूगल ने अपनी गूगल ट्रांसलेट अॉफलाइन सर्विस से यह सुनिश्चित किया है कि लोग कम नेटवर्क या जीरो नेटवर्क वाले एरिया में भी ऑफलाइन फीचर का यूज कर सकें ।  हाल ही में एक ब्लॉग पोस्ट में गूगल ने घोषणा की है कि ऑफलाइन सर्विस अब न्यूरल मशीन ट्रांसलेशन या NMT के इंटीग्रेशन के साथ और भी ज्यादा बेहतर होने वाली है।

Google ने दो साल पहले ही ऑनलाइन गूगल ट्रांसलेट में NMT टेक्निक को इंटीग्रेट कर दिया था, जो काफी बेहतर रिजल्ट दिखाता था। अब गूगल ऑफलाइन ट्रांसलेशन करने के लिए NMT टेक्नोलॉजी ला रहा है।
गूगल के मुताबिक, “न्यूरल सिस्टम टुकड़ो में ट्रांसलेट करने की बजाय एक ही समय में पूरे सेंटेंस को ट्रांसलेट करेगा। यह सबसे सटीक ट्रांसलेशन के लिए ब्रॉडर कॉन्टैक्स्ट की मदद लेता है, जो ट्रांसलेशन को सही तरीके से अरेंज करता है। यह ट्रांसलेट किए गए पैराग्राफ को पढ़ने के लिए बहुत आसान बना देता है। ”

गूगल ट्रांसलेट ऑफलाइन एक लाइट ऐप है जो हर भाषा के लिए केवल 35-45mb स्पेस का यूज करती है। गूगल इस अपडेट को 59 भाषाओं में रिलीज करेगा और ये अगले कुछ दिनों में उपलब्ध होगा।

  • Published Date: June 13, 2018 1:00 PM IST