comscore
News

अब इस डाटा लीक में फंसा फेसबुक, 30 लाख लोगों की निजी जानकारी दांव पर

फेसबुक नए डाटा लीक विवाद में फंस गया है। अब फेसबुक ने 30 लाख यूजर्स की बेहद निज

intimate-details-of-3-million-facebook-users-were-exposed-in-a-new-data-leak,अब इस डाटा लीक में फंसा फेसबुक, 30 लाख लोगों की निजी जानकारी दांव पर

फेसबुक नए डाटा लीक विवाद में फंस गया है। अब फेसबुक ने 30 लाख यूजर्स की बेहद निजी डिटेल्स को दांव पर लगाया है। इनमें यूजर्स के मनोवैज्ञानिक टेस्ट शामिल हैं। डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, यह फेसबुक का नया डाटा स्कैंडल है, जो कि एक पर्सनैलिटी एप के जरिए हुआ है। न्यू साइंटिस्ट की रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है। बताया जा रहा है कि एक बेहद लोकप्रिय पर्सनैलिटी ऐप ने यूजर्स के डाटा को अज्ञात तरीके से संरक्षित किया था। इस डाटा को एक क्वीज के जरिए संरक्षित किया था। इस पर्सैनलिटी ऐप का पासवर्ड इंटरनेट पर मिला है। इसके जरिए कोई भी इस डाटा तक अपनी पहुंच बना सकता था।

चार साल से संरक्षित कर रखा था यूजर्स का डाटा
रिपोर्ट में बताया गया है कि मायपर्सनैलिटी ऐप के जरिए यूजर्स के सेंसटिव डाटा को संरक्षित किया गया था। इसमें यूजर्स के मनोचिकित्सक परीक्षण के रिजल्ट शामिल थे। रिपोर्ट के मुताबिक, एप ने यूजर के डाटा को चार साल से संरक्षित किया था और इस तक पहुंच बनाना बेहद आसान था। यानी इस डाटा को सही तरीके से प्रोटेक्ट नहीं किया गया था। इसमें सेंधमारी बेहद आसानी से हो सकती थी। इसका पासवर्ड इंटरनेट पर सार्वजनिक था, जिसके जरिए इसे कोई भी चुरा सकता था।

फेसबुक ने अपने प्लेटफॉर्म से हटा दिया है ऐप
साल 2007 में myPersonality साइट की स्थापना हुई थी। इसे यूनिवर्सिटी ऑफ क्रैंबिज चला रही थी। इसमें यूजर्स के टेस्ट के परिणाम को संरक्षित किया गया था।  फेसबुक ने जिन 200 ऐप्स को अपने प्लेटफॉर्स से सस्पेंड किया है उसमें यह ऐप भी शामिल है। बता दें कि फेसबुक ने डाटा का मिसयूज करने वाले एप्स के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए 200 एप्स को सस्पेंड कर दिया है। ये सभी एप्स यूजर्स के प्राइवेट डाटा का गलत इस्तेमाल कर रहे थे। फेसबुक ने इन एप्स को जांच के बाद अपने फ्लेटफॉर्म से रिमूव किया है। फेसबुक ने क्रैंबिज एनालिटिका विवाद के बाद यूजर्स के डाटा का मिसयूज करने वाले एप्स के खिलाफ जांच स्टार्ट कर दी थी। अब जाकर कंपनी ने ऐसे 200 एप्स की पहचान की है और उन्हें अपने प्लेटफॉर्म से सस्पेंड कर दिया है। इनमें माईपर्सैनिलिटी एप भी शामिल है।


यूजर्स के डाटा का गलत इस्तेमाल कर रहे थे ये एप्स
फेसबुक के प्रोडक्ट पार्टनरशिप के वाइस प्रेसिडेंट इमे आर्कबो का कहना है कि हमनें डाटा का मिसयूज करने वाले एप्स के खिलाफ जांच की और 200 एप्स को सस्पेंड  किया है। इस पर अभी जांच चल रही है कि इन एप्स ने यूजर्स के डाटा का किस तरह से मिसयूज किया है। उन्होंने कहा, हमने पाया है कि इन एप्स ने यूजर्स का डाटा मिसयूज किया है। हम इन एप्स को बैन करेंगे।

  • Published Date: May 15, 2018 5:44 PM IST
  • Updated Date: May 15, 2018 6:13 PM IST