comscore
News

'बोलो' में बदला स्वदेशी एप किंभो, पंतजलि ने दिया यह बयान

पतंजलि की स्वदेशी चैटिंग एप 'किंभो' अब 'बोलो' मैसेंजर एप में तब्दील हो गया है।

Kimbho App

पतंजलि की स्वदेशी चैटिंग एप ‘किंभो’ अब ‘बोलो’ मैसेंजर एप में तब्दील हो गया है। हालांकि, पतंजलि के प्रवक्ता एसके तिजारावाला का कहना है कि बोलो एप का पतंजलि से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने यह बात ट्वीट कर कही है। उन्होंने कहा कि किंभो एप पर काम चल रहा है और जल्द ही इसे लॉन्च किया जाएगा।

बता दें कि किंभो एप में कुछ दिक्कत के बाद इसे प्ले स्टोर से हटा लिया गया था। वहीं बोलो मैसेंजर एप की डेवलपर अदिति का कहना है कि यह एप अब एंड्रॉयड प्लेटफॉर्म पर डाउनलोड के लिए उपलब्ध  है और इसे जल्द ही iOS के लिए भी रोल आउट किया जाएगा।

अदिती कमल का कहना है कि बोलो मैसेंजर ऐप एंड्रॉयड के लिए मौजूद है। जिन यूजर्स ने अभी तक किंभो एप को अनइंस्टॉल नहीं किया है, वो अपडेट के जरिए बोलो मैसेंजर का इस्तेमाल कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि ‘किंभो ऐप के लिए जिस आईपी का इस्तेमाल हुआ था वो बोलो मैसेंजर पर बेस्ड थी और अब उनकी टीम रामदेव के किंभो एप के लिए काम नहीं करेगी। वहीं, पतंजलि का कहना है कि उनका किंभो एप जल्द  ही गूगल प्ले स्टोर और एपल स्टोर पर उपलब्ध होगा।बता दें कि लॉन्चिंग के 24 घंटे के भीतर ही किंभो एप को गूगल प्ले स्टोर ने हटा दिया था।

पतंजलि ने बोलो एप आने के बाद आधिकारिक बयान दिया है। इसमें फेक एप्स से सावधन रहने की बात कही गई है। पतंजलि का कहना है कि किंभो एप जल्द ही गूगल प्ले स्टोर और एपल स्टोर पर उपलब्ध होगा।

  • Published Date: July 14, 2018 2:54 PM IST
  • Updated Date: July 16, 2018 8:48 AM IST