comscore
News

अब मोबाइल ऑपरेटर आपके घर आकर मोबाइल से लिंक करेंगे आपका AADHAAR: जानिये यह नई बातें

आपके मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करने की प्रक्रिया को सरकार ने अब और भी आसान बना दिया है।

aadhaar-screenshot

सरकार ने आधार और मोबाइल नंबर को लिंक कराने को लेकर कुछ नई घोषणाएं की हैं, सरकार ने टेलीकॉम कंपनियों से कहा है कि, जो लोग जैसे: उम्रदराज लोग, दिव्यांग जन, और बीमार टेलीकॉम कंपनियों के आउटलेट पर जाकर अपना आधार अपने मोबाइल से लिंक नहीं करा सकते हैं। कंपनियां उन लोगों के आधार लो उनके घर जाकर अपने आप ही लीं करें। अर्थात् अप टेलीकॉम कंपनी आपके घर आकर आपको यह सुविधा देने वाली है।

इसके अलावा आपको बता दें कि टेलिकॉम मंत्री मनोज सिन्हा ने यह भी कहा है कि अब आपके मोबाइल नंबर को वनटाइम पासवर्ड, ऐप या IVRS के माध्यम से लिंक किया जा सकेगा। उन्होंने यह भी कहा है कि यह कदम लोगों की सुविधा के लिए उठाएं जा रहे हैं, अब इन नई घोषणाओं के बाद आधार को अपने मोबाइल से लिंक करना और भी आसान हो गया है। अभी तक आपको आपके नेटवर्क के आधार पर बने आउटलेट पर जाकर ही ऐसा करना होता था। लेकिन अब यह नियम बदल गया है। इसे भी देखें: शाओमी ने पिछले महीने 4 मिलियन स्मार्टफोन सेल किए: मनु कुमार जैन

आपको यह भी बता दें कि जिन लोगों के पास आधार नहीं है, उनके ई-सत्यापन के लिए अलग से प्रणाली जल्द ही लाई जा सकती है। यहाँ अगर आपको उदाहरण देकर समझाया जाए तो आपको बता देते हैं कि अगर आप प्रवासी भारतीय हैं तो आप अपने नंबर को अपने पासपोर्ट के जरिये लिंक कर सकते हैं।  इसे भी देखें: मोटो E3 Power में चार्जिंग के बाद हुआ विस्फोस्ट: रिपोर्ट

m-aadhaar-app-bgr

इसके अलावा जैसा कि आपसे ऊपर भी कहा गया है कि अगर कोई व्यक्ति बीमार है, उसकी उम्र ज्यादा है, या फिर दिव्यांग जन अब घर बैठे ही इस काम को कर सकेंगे, क्योंकि टेलीकॉम कंपनी अब उनके घर जाकर उनके आधार कार्ड को उनके मोबाइल नंबर से लिंक करेगी। इसे भी देखें: Samsung Galaxy S8 और Samsung Galaxy Note 8 को 2018 तक नहीं मिलेगा Android 8.0 Oreo का अपडेट

सरकार के नए निर्देशों के अनुसार, अब टेलीकॉम कंपनियां अपनी वेबसाइट पर ही एक अलग से सुविधा शुरू करेंगी जिसके माध्यम से महज वेबसाइट पर जाकर आपको वहां अपना नंबर दर्ज करना होगा और उसके बाद आपके फोन पर एक OTP आयेगा जिसे दर्ज करते ही आपको जानकारी मिल जाएगी कि आपका आधार आपके मोबाइल नंबर से लिंक हो गया है। अर्थात् इस प्रणाली को पूरी तरह से ऑनलाइन किया जाएगा। अगर आपका नंबर पहले ही रजिस्टर्ड है तो भी आप इस OTP की विधि के जरिये अपने नंबर की री-वैरिफिकेशन कर सकते हैं। इसे भी देखें: Google ने अपने Nexus और Pixel डिवाइसों के लिए जारी किया एंड्राइड 8.1 Oreo डेवलपर प्रीव्यू

aadhaar-card-image

अगर आंकड़ों पर नजर डालें यो आपको बता देते हैं कि हमारे देश में अभी तक 50 करोड़ से ज्यादा मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड किये गए हैं तो OTP के माध्यम से इन्हें रीवेरीफाई किया सकता है। इसके अलावा सरकार ने एक महत्त्वपूर्ण बात भी यहाँ कही है कि अगर आप एजेंट के माध्यम से अपना बायोमीट्रिक ऑथेंटिफिकेशन कराते हंइ या सिम खो जाने की स्थिति में दोबारा सिम लेने जाते हैं तो टेलीकॉम कंपनियों से यह सुनिश्चित करने को कहा गया है कि इस मामले में न तो एजेंट को ई-केवाईसी ब्यौरा दिखे और न ही यह किसी डिवाइस में स्टोर किया जाये। अभी के मामले में यह पूरा डाटा एजेंट को नजर आता है तो हो सकता है वह इसका गलत प्रयोग कर ले। इस कदम के बाद इन मामलों की भी संभावना कम हो जाएगी। इसे भी देखें: एयरटेल इस बार लावा के साथ मिलकर पेश करेगी दूसरा लो कोस्ट 4G फोन: रिपोर्ट

नई घोषणाओं में सभी चीजों को ध्यान में रखकर ही इसे आगे बढ़ाया गया है, जैसे फिंगरप्रिंट सेंसर कभी कभी उम्र के साथ कम हो जाते हैं और वह मैच करना बंद कर देते हैं तो ऐसी स्थिति में और जिन लोगों के साथ ऐसा हो रहा है उनके आँखों की रेटिना को स्कैन करके ऐसा किया जाएगा। टेलीकॉम कंपनियों को इसके लिए पर्याप्त साधन जुटाने को भी कहा गया है। इसे भी देखें: Samsung Galaxy S8 और Samsung Galaxy Note 8 को 2018 तक नहीं मिलेगा Android 8.0 Oreo का अपडेट

  • Published Date: October 26, 2017 10:45 AM IST