comscore
News

इन टिप्स को फॉलो कर ऐसे बढ़ाएं स्मार्टफोन्स का बैटरी बैकअप

अगर आप भी अपनी बैटरी लाइफ से परेशान हैं तो यह खबर आपके लिए है।

smartphone-battery

समय के साथ हमें स्मार्टफोन में बहुत से बदलाव देखने को मिले हैं। पहले के समय में लोग मोबाइल को बस कॉलिंग और मैसेज करने के लिए ही इस्तेमाल करते थे। लेकिन आज लोग अपने हर काम के लिए स्मार्टफोन के ऊपर निर्भर रहते हैं। आज स्मार्टफोन कंपनियां इसी कारण बड़ी से बड़ी बैटरी देने की कोशिश करती हैं पर कहीं न कहीं लोग अपने बैटरी बैकअप से नाखुश ही दिखाई देते हैं। ऐसे लोगों के लिए हमने कुछ टिप्स तैयार किए हैं जो आपको फोन की बैटरी से ज्यादा से ज्यादा बैकअप लेने में मदद करेंगे।

वॉलपेपर

आजकल ज्यादातर स्मार्टफोन्स में HD डिस्प्ले से लेकर सुपर एमोलेड डिस्प्ले देखने को मिल रहे हैं। ऐसी डिस्प्ले में कलर रिप्रोडक्शन और पिक्सल प्रति इंच(PPI) बहुत ज्यादा होता है जिस कारण आप जितने शार्प और विविड कलर वाले वॉलपेपर लगाते हैं तो आपकी बैटरी उतनी ही ज्यादा जल्द खत्म होती है। बैटरी बचाने के लिए आप काले रंग के बैकग्राउंड का इस्तेमाल कर सकते हैं। काला रंग कम से कम PPI इस्तेमाल करता है और आपकी बैटरी में इसका काफी कम असर पड़ता है।

 

जीपीएस (GPS: लोकेशन सर्विस)

लोकेशन सर्विस पर सबसे ज्यादा बैटरी इस्तेमाल करने का इल्जाम हमेशा से लगता रहा है। आजकल ज्यादातर ऐप्स, लोकेशन सर्वीस का इस्तेमाल करती हैं। ऐसे में आपके स्मार्टफोन में लोकेशन सर्विस ज्यादातर समय बैकग्राउंड में चलती रहती है। हमारी राय है कि आप टाइम-टू-टाइम अपनी लोकेशन सर्विस को चैक करते रहें और जब भी आपको इस सर्विस की जरूरत ना हो आप इसे ऑफ कर दें। एेसा करने से भी आप काफी बैटरी बचा सकते हैं।

 

बैकग्राउंड ऐप्स

ज्यादा रैम के कारण लोगों के बीच मल्टीटास्किंग करना काफी बढ़ गया हैं। ऐसे में कई सोशल ऐप्स और डेटा सिंकिंग ऐप्स है जो बैकग्राउंड में चलते रहते हैं। कई बार ऐसी ऐप्स रीसेंट ऐप्स से हटाने पर भी बैकग्राउंड में चलती रहती हैं। आप ऐसी ऐप्स को बैकग्राउंड से पूरी तरह से हटाने के लिए इनको ‘Force Stop’ कर सकते हैं। एेसा करने के लिए आप Setting » Apps को ओपन कर उन्हें एक एक करके स्टॉप कर सकते हैं। इनके अलावा कई थर्ड-पार्टी एेप्स भी हैं जो आपका ये काम एक क्लिक में कर देती हैं।

डेटा सिंकिंग

अगर आप क्लाउड सर्विस इस्तेमाल करते हैं तो आपको बता दें कि यह सर्विस भी काफी बैटरी इस्तेमाल करती है। एंड्राॅइड और एप्पल दोनों ही अपने OS में फ्री क्लाउड सर्विस देते हैं। ये सर्विस आपके डेटा को थोड़े-थोड़े समय में अॉनलाइन सेव करती रहती हैं। बैकग्राउंड में चलने के कारण ये काफी बैटरी लेती है। इससे बचने के लिए आप इसे अपने हिसाब से शेड्यूल कर सकते हैं या पूरी तरह से बंद कर सकते हैं। इस सर्विस को Setting » Accounts को ओपन करके राइट साइड मे तीन डॉट्स में क्लिक करके ‘Auto sync’ को अनचैक करके पूरी तरह से बंद कर सकते हैं।

ब्राइटनैस और एम्बिएंट डिस्प्ले

स्मार्टफोन की ब्राइटनैस को दिन भर फुल रखने से भी बैटरी ज्यादा जल्दी खत्म होती है। इससे बचने के लिए आप फोन को ‘Automatic Brightness’ पर रख सकते हैं। एेसा आप नोटिफिकेशन पैनल से या Setting » Display को ओपन कर Automatic Brightness अॉन करके भी कर सकते हैं। अगर आपका स्मार्टफोन ‘Ambient Display’ फीचर के साथ आता है तो आप इसे आॅफ करके भी काफी बैटरी बचा सकते हैं।

 

 

एयरप्लेन मोड और पाॅवर सेविंग मोड

हमारा स्मार्टफोन सिगनल की हर वक्त तलाश करता रहता है और यह प्रोसेस काफी बैटरी लेता है। एेसे में जिस समय भी आपको लगता है की आपको इंटरनेट और काॅलिंग की जरूरत नहीं हैं तब आप अपने स्मार्टफोन को Airplane मोड में रख कर भी आप बैटरी को बचा सकते हैं। इसके अलावा आजकल ज्यादातर स्मार्टफोन कंपनियां फोन में इन-बिल्ट पॉवर सेविंग मोड देती हैं। उसका इस्तेमाल करके भी आप बैटरी को बचा सकते हैं।

  • Published Date: June 11, 2018 11:58 AM IST
  • Updated Date: June 11, 2018 11:59 AM IST