comscore
News

फेक न्यूज और अफवाहों को लेकर सरकार सख्त, WhatsApp को भेजा जाएगा नोटिस

लोकप्रिय मैसेजिंग एप व्हाट्सएप फेक न्यूज और अफवाहों का सबसे बड़ा माध्यम बनता जा रहा है। सरकार इसे लेकर सख्त हो गई है।

Untitled design (17)

लोकप्रिय मैसेजिंग एप व्हाट्सएप फेक न्यूज और अफवाहों का सबसे बड़ा माध्यम बनता जा रहा है। सरकार इसे लेकर सख्त हो गई है और आने वाले कुछ दिनों में दूसरा नोटिस भेजकर व्हाट्सएप से पूछताछ की जा सकती है। व्हाट्सएप को दूसरा नोटिस भेजने से पहले आईटी मिनिस्ट्री प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से संपर्क कर सकती है।

पिछले काफी वक्त से भारत में व्हाट्सएप से फैली फेक न्यूज और अफवाहों ने कई लोगों की जान ली है। हिंसा और सांप्रदायिक सौहाद्ध बिगाड़ने के लिए सीधे तौर पर व्हॉट्सएप से फैली अफवाह जिम्मेदार है। ऐसे में सूचना और प्रौद्योगिकी मंत्रालय एक बार फिर अफवाहें फैलाने वाले संदेशों पर अंकुश लगाने को लेकर व्हाट्सएप से बात कर सकता है।

व्हाट्सएप को जल्द भेजा जाएगा दूसरा नोटिस
मंत्रालय का मानना है कि व्हाट्सएप ने भीड़ को उकसाने वाले फर्जी संदेशों पर लगाम लगाने के मामले में सरकार की सभी आपत्तियों को दूर नहीं किया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को कहा कि सरकार अगले कुछ दिनों के भीतर फिर से व्हाट्सएप कंपनी से पूछताछ कर सकती है। इससे पहले व्हाट्सएप को झूठी खबरों और फेक न्यूज को लेकर नोटिस भेजा जा चुका है।

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि  हमें झूठी अफवाहों और संदेशों पर लगाम लगाने को लेकर व्हाट्सएप से फिर से बात करनी होगी। यह सिर्फ तभी होता है जब इससे पहले की प्रतिक्रिया से पूरी तरह संतुष्टि नहीं मिली हो। उन्होंने कहा कि आईटी मंत्रालय को व्हाट्सएप से और उम्मीदें हैं और वह मामले को देख रही है। उन्होंने कहा कि इसमें 2-3 दिन लग सकते हैं।अधिकारी ने कहा कि  मंत्रालय को लगता है कि अभी व्हॉट्सएप ने झूठी अफवाह और संदेशों को लेकर सभी आपत्तियों को दूर नहीं किया है।

  • Published Date: July 19, 2018 12:10 PM IST