comscore
News

व्हाट्सएप पेमेंट्स बनान गूगल तेज बनाम पेटीएम, जानें किसमें क्या है अंतर

व्हाट्सएप ने अपने डिजिटल पेमेंट को भारत में पेश कर दिया है। इसके बाद आइए देखते हैं पहले से भारत में मौजूद पेटीएम और गूगल तेज से यह कितना अलग है।

whatsapp payments

व्हाट्सएप मोस्ट पॉपुलर मैसेजिंग प्लेटफॉर्म में से एक है। इस एप के ग्लोबली 1.5 बिलियन मंथली एक्टिव यूजर्स मौजूद हैं। वहीं, भारत लगभग 200 मिलियन एक्टिव यूजर्स हैं। इनमें से ज्यादतर लोगों के लिए यह बातचीत करने का एक प्राइमरी सोर्स है, जिसके माध्यम से फोटो, वीडियो, टेक्सट और आदि। इसके अलावा व्हाट्सएप में मौजूद वीडियो कॉल और वॉयल कॉल की मदद से यूजर्स फ्री में सिर्फ डाटा की मदद से बात कर सकते हैं। नोटबंदी के बाद से डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा मिलने पर अब आखिरकार व्हाट्सएप ने भी अपने एप में पेमेंट का ऑप्शन शामिल कर दिया है।

मैसेजिंग और पेमेंट्स

कुछ लोग का कहना है कि मैसेजिंग प्लेटफॉर्म को डिजिटल पेमेंट्स को एकीकृत करने की आवश्यकता क्यों है और इसे कम्यूनिकेशन पर फोकस करना चाहिए। हालांकि, मुझे विश्वास है, UPI- आधारित डिजिटल भुगतान समाधान एक मास्टरस्ट्रोक है। वहीं, मेरा मानना है कि जब आपके पास 200 मिलियन उपयोगकर्ता हैं, तो इसका पूरी तरह से उपयोग क्यों न करें?

मैंने जो अब तक देखा है उसमें स्कूल और कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र और बुजुर्ग अधिकतर व्हाट्सएप का उपयोग करते हैं। बातचीत में पैसे भेजने और प्राप्त करने के लिए डिजिटल भुगतान जोड़ने से चीजें बेहतर हो सकती हैं।

इससे पहले, जब आप किसी को पैसे देते थे तो आपको आईएमपीएस या एनईएफटी के जरिये पैसे ट्रांसफर करने के लिए चेक या प्राप्तकर्ता का नाम, बैंक का नाम और खाता संख्या, आईएफएससी कोड प्राप्त की जरुरत पड़ती थी। वहीं, अब मोबाइल वॉलेट और यूपीआई के साथ, आपको पैसे ट्रांसफर करने के लिए बस फोन नंबर या वीपीए (वर्चुअल भुगतान एड्रेस) की आवश्यकता होती है।

आज आपके पास BHIM और Google Tez के साथ ही मोबाइल वॉलेट Paytm, MobiKwik और FreeCharge जैसे एप्स हैं। इतना ही नहीं अब बैंक की एप्स की मदद से भी आप पैसे सेंड और प्राप्त कर सकते हैं। वहीं, इन सबके बीच अब व्हाट्सएप ने अपनी पेमेंट सर्विस को पेश कर दूसरे एप्स को कड़ी टक्कर देने की योजना बना ली है।

व्हाट्सएप पेमेंट

BHIM और दूसरे UPI एप्स की तरह ही यूजर्स को व्हाट्सएप पेमेंट में भी आधार और फोन नंबर से जुड़े एक बैंक खाते की आवश्यकता होगी है। यदि ये आवश्यकताएं पूरी होती हैं, तो उपयोगकर्ताओं को बस सेटअप प्रक्रिया के माध्यम से इस प्रोसेस को पूरा कर सकते हैं। इसके बाद इस एप में आपको बैंक खाता चुनने, फोन नंबर को OTP के उपयोग से सत्यापित करने और आपको पूरा करने की सुविधा मिलेगी। किसी भी बिंदु पर, अगर उपयोगकर्ताओं के पास कई बैंक खाते हैं, तो वे उनसे व्हाट्सएप के साथ लिंक कर सकते हैं और उनके बीच स्विच भी कर सकते हैं।

इसमें बेस्ट पार्ट है कि अगर आपके व्हाट्सएप पर बैंक खाते से लिंक किया है, तो पैसा भेजने और प्राप्त करना काफी सरल है। आपको वीपीए की जरूरत नहीं है, सिर्फ फोन नंबर पर्याप्त है। आप बस चैट में पैसा भेज सकते हैं, जैसे आप प्राप्तकर्ता को फोटो और वीडियो भेजते हैं। भेज गए पैसा सीधे प्राप्तकर्ता के बैंक खाते में जमा हो जाएंगे। यह उतना सरल है। और व्हाट्सएप के साथ 200 मिलियन उपयोगकर्ता हैं, यह सिर्फ चीजों को सरल करता है।

गूगल तेज

पिछले साल सितंबर 2017 में गूगल ने पेमेंट प्लेटफॉर्म पर पहले से ही 10 मिलियन यूजर्स मौजूद हैं। यह एक लाइटवेट एप है, जिसके माध्यम से पेमेंट आसानी से की जा सकती है। इस एप में UPI की मदद से आप अलग-अलग तरह से पैसे भेज व प्राप्त कर सकते हैं। यह कई मायने में BHIM एप की ही तरह है।

इसके माध्यम से पैसे भेजने और प्राप्त करने के लिए दोनों उपयोगकर्ताओं के पास गूगल तेज होना चाहिए जो कि बैंक अकाउंट से कॉन्फिगर किया गया हो। इसमें भी आपको आधार और फोन नंबर से जुड़े एक बैंक खाते की आवश्यकता होगी है। इस को इस्तेमाल कर आप अकाउंट नंबर और आईएफएससी कोड की मदद से पैसे भेज सकते हैं। इसके अलावा आप UPI ID और QR कोड को स्कैन कर भी पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। इसके अलावा इसमें कैश मोड भी जिसकी मदद से पैसे भेज और प्राप्त किए जा सकते हैं। सेंडर को ‘Cash Mode’ पर टैप करना होगा।

इसमें आपको फोन नंबर, या यूपीआई आईडी या क्यूआर कोड को साझा करने की कोई जरुरत नहीं है। यह आसान है लेकिन, जाहिर है, यह एक अतिरिक्त एप है, जिसे आपको डाउनलोड करने की आवश्यकता है, जबकि व्हाट्सएप में चैट के साथ ही पैसे ट्रांसफर किए जा सकते हैं।

पेटीएम

दूसरे ई-वॉलेट एप की तुलना में पेटीएम काफी पॉपुलर है। इस मोबाइल वॉलेट की मदद से आप पैसे भेज और प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा इसमें आप मोबाइल फोन के बिल, बिजली के बिल, मेट्रो कार्ड रिचार्ज, मोबाइल फोन रिचार्ज के साथ कई काम कर सकते हैं।

पेटीएम एक ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म है, जहां आप कपड़े के साथ बाकि के समान को खरीद सकते हैं। इतना ही नहीं इस एप की मदद से ट्रेन, बस और फ्लाइट की टिकट बुक की जा सकती है। पेटीएम ने हाल ही में UPI-बेस्ड पेमेंट सॉल्यूशन को पेश किया था। इसके अलावा पेटीएम द्वारा पेमेंट बैंक को भी पेश किया जा चुका है। आप ऑनलाइन पैसे भेज और प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा चेक बुक के लिए भी अप्लाइ कर सकते हैं। आपको एक वर्चुअल फिजिकल डेबिट कार्ड मिलता है, जिसकी मदद से आप शॉपिंग और पैसे निकाल सकते हैं।

स्पष्ट रूप से, जैसा कि आप देख सकते हैं, प्रत्येक प्लेटफॉर्म के अपने फायदे हैं। एकमात्र ऐसी चीज है जो यूपीआई एकीकरण है। यहां तक कि अगर आप गूगल तेज को छोड़ देते हैं, तो व्हाट्सएप ने आपको चैट के अंदर पैसा ट्रंसफर करने का एक फायदा मिलता है, जबकि पेटीएम एक ई-वॉलेट है, जिससे आपको बिल भुगतान और एक नियमित बैंक खाता भी मिल सकता है, जिससे आपको डेबिट कार्ड और चेक बुक भी मिलती है। सभी का अपना महत्व महत्व है और इसका उपयोग स्पष्ट रूप से निर्भर करता है कि आपकी जरुरतों पर पड़ता है।

  • Published Date: February 15, 2018 3:17 PM IST
  • Updated Date: February 15, 2018 3:20 PM IST