comscore
News

आधार लिंकिंग की समयसीमा को बढ़ाकर 31, मार्च 2018 किया गया

केंद्र सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय को इस बात की जानकारी दी है कि सभी सरकारी योजनाओं का लाभ उठने के लिए अब बैंक खातों को आधार से जोड़ने की समयसीमा को आगे बढ़ा दिया गया है।

  • Published: October 26, 2017 12:15 PM IST
aadhaar-card-image

मनीलोंड्रिंग नियमों के उल्लंघन को देखते हुए बैंक खातों को आधार से जोड़ने और दंड आदि तय करने के लिए केंद्र सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय से 4 दिनों की और मोहलत मांगी थी, और कहा था कि वह इस मामले को लेकर जल्द ही कुछ लेकर सामने आयेगा।

इसके बाद अटॉर्नी जेनेरल K।K Venugopal ने मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायाधीश A M Khanwilkar और न्यायधीश D Y Chandrachud की बेंच को बताया है कि केंद्र सरकार ने यह तय किया है कि सभी सरकारी योजनाओं के लाभ उठाने के साथ, राशन जो पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम के अंतर्गत आता है आदि का लाभ उठने के लिए आधार की अनिवार्यता की तिथि को 31, मार्च 2018 तक के लिए बढ़ा दिया है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि 31, मार्च तक आधार की कमी के कारण कोई भी किसी भी तरह के लाभ से वंचित नहीं रहेगा। इसे भी देखें: अब मोबाइल ऑपरेटर आपके घर आकर मोबाइल से लिंक करेंगे आपका AADHAAR: जानिये यह नई बातें

इसके अलावा आपको बता दें कि मोबाइल और आधार लिंकिंग के लिए नए नियमों की घोषणा की गई है। जिसके अंतर्गत कहा गया है कि सरकार ने टेलीकॉम कंपनियों से कहा है कि, जो लोग जैसे: उम्रदराज लोग, दिव्यांग जन, और बीमार टेलीकॉम कंपनियों के आउटलेट पर जाकर अपना आधार अपने मोबाइल से लिंक नहीं करा सकते हैं। कंपनियां उन लोगों के आधार लो उनके घर जाकर अपने आप ही लीं करें। अर्थात् अप टेलीकॉम कंपनी आपके घर आकर आपको यह सुविधा देने वाली है।

इसके अलावा आपको बता दें कि टेलिकॉम मंत्री मनोज सिन्हा ने यह भी कहा है कि अब आपके मोबाइल नंबर को वनटाइम पासवर्ड, ऐप या IVRS के माध्यम से लिंक किया जा सकेगा। उन्होंने यह भी कहा है कि यह कदम लोगों की सुविधा के लिए उठाएं जा रहे हैं, अब इन नई घोषणाओं के बाद आधार को अपने मोबाइल से लिंक करना और भी आसान हो गया है। अभी तक आपको आपके नेटवर्क के आधार पर बने आउटलेट पर जाकर ही ऐसा करना होता था। लेकिन अब यह नियम बदल गया है। इसे भी देखें: OnePlus 5 से अलग इन बदलाव के साथ पेश किया जा सकता है OnePlus 5T स्मार्टफोन

आपको यह भी बता दें कि जिन लोगों के पास आधार नहीं है, उनके ई-सत्यापन के लिए अलग से प्रणाली जल्द ही लाई जा सकती है। यहाँ अगर आपको उदाहरण देकर समझाया जाए तो आपको बता देते हैं कि अगर आप प्रवासी भारतीय हैं तो आप अपने नंबर को अपने पासपोर्ट के जरिये लिंक कर सकते हैं।
इसके अलावा जैसा कि आपसे ऊपर भी कहा गया है कि अगर कोई व्यक्ति बीमार है, उसकी उम्र ज्यादा है, या फिर दिव्यांग जन अब घर बैठे ही इस काम को कर सकेंगे, क्योंकि टेलीकॉम कंपनी अब उनके घर जाकर उनके आधार कार्ड को उनके मोबाइल नंबर से लिंक करेगी।

सरकार के नए निर्देशों के अनुसार, अब टेलीकॉम कंपनियां अपनी वेबसाइट पर ही एक अलग से सुविधा शुरू करेंगी जिसके माध्यम से महज वेबसाइट पर जाकर आपको वहां अपना नंबर दर्ज करना होगा और उसके बाद आपके फोन पर एक OTP आयेगा जिसे दर्ज करते ही आपको जानकारी मिल जाएगी कि आपका आधार आपके मोबाइल नंबर से लिंक हो गया है। अर्थात् इस प्रणाली को पूरी तरह से ऑनलाइन किया जाएगा। अगर आपका नंबर पहले ही रजिस्टर्ड है तो भी आप इस OTP की विधि के जरिये अपने नंबर की री-वैरिफिकेशन कर सकते हैं। इसे भी देखें: गूगल प्ले स्टोर पर Skype पहुंचा 1 बिलियन डाउनलोड तक

  • Published Date: October 26, 2017 12:15 PM IST