comscore
News

Android P से ऐसे बदल जाएगा आपका स्मार्टफोन

I/O 2018 डिवेलपर्स कॉन्फ्रेंस के पहले दिन अधिकारिक तौर पर एंड्रॉइड पी मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम की घोषणा हुई।

Android P new

सर्च इंजन गूगल ने I/O 2018 डेवेलपर्स कॉन्फ्रेंस के पहले दिन अधिकारिक तौर पर एंड्रॉइड पी मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम की घोषणा की। कंपनी के नए ऑपरेटिंग सिस्टम में AI और मशीन लर्निंग पर खास ध्यान दिया गया है। कंपनी ने अपने नए ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉइड P में मशीन लर्निंग वाला अडेप्टिव ब्राइटनेस फीचर, अडैप्टिव बैटरी और स्लाइसेज के जैसे कई फीचर दिए हैं। कंपनी ने अपने नए ऑपरेटिंग सिस्टम को इस तरह डिजाइन किया है जिससे यूजर्स अपने फोन पर टाइम स्पेडिंग को और बेहतर बनाने के साथ अपने टाइम को अच्छे से मैनेज कर सके। गूगल ने ध्यान दिया है कि यूजर्स कंटेंट को तेजी से एक्सेस कर पाएं जो वह चाहते हैं।

ऑटो रोटेट डिस्प्ले होगा स्मार्टर

कंपनी ने अपने नए एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम में ऑटो रोटेट में बड़ा सुधार किया है। नेविगेशन आइकन के साइड में एक न्यू रोटेशन आइकन पॉप अप करेगा जो आपको ऑप्शन देगा कि आप वास्तव में स्क्रीन को रोटेट करना चाहते हैं या नहीं। इसके अलावा जीमेल जैसे ऐप्स जो हमेशा पोर्टेट मोड में इस्तेमाल होते हैं ये उन्हें ऑटो रोटेट होने से रोक देगा।

अडेप्टिव ब्राइटनेस फीचर

एड्रॉइड P के अडैप्टिव ब्राइटनेस फीचर में मशीन लर्निंग का इस्तेमाल किया गया है। मशीन लर्निंग की मदद से यह पता चल सकेगा कि स्मार्टफोन यूजर्स अलग-अलग कंडीशन में किस तरह की ब्राइटनेस रखना पसंद करता है और स्मार्टफोन ऑटोमेटिक उस ब्राइटनेस को अपने आप एडजस्ट करेगा।

अडैप्टिव बैटरी

इस नए फीचर में बैटरी पावर को उन ऐप और सर्विसों के लिए ज्यादा तरजीह मिलेगी जिनका आप ज्यादा इस्तेमाल करते हैं। इसके जरिए आपका स्मार्टफोन बैटरी का ऑप्टिमम यूटिलाइजेशन कर पाएगा और आपका स्मार्टफोन ज्यादा देर तक आपका साथ निभाएगा। इससे बैटरी लाइफ 30% तक बढ़ जाएगी।

एप एक्शंस

एंड्रॉइड P का मकसद आपको बेहतर और स्मार्ट राय देना है। इसमें एप एक्शंस का भी फीचर है जो आपको यह बता सकता है कि आपको क्या करने की जरूरत है जिससे आपका एक्सपीरियंस और सुधारा जा सके। उदाहरण के तौर पर यदि आप अपने हेडफोन को डिवाइस से कनेक्ट करते हैं तो एंड्रॉइड आपकी पसंदीदा स्पॉटीफाई प्लेलिस्ट को फिर से शुरू करने का एक ऑप्शन देगा।

क्विक सेटिंग में बदलाव

एंड्रॉइड P ने क्विक सेंटिंग के इंटरफेस को रिडिजाइन किया है। आप एडिट, सिंप्लीफाइड वॉल्यूम कंट्रोल और नोटिफिकेशन को आसनी से मैनेज कर पाएंगे।

एंड्रॉइड डैशबोर्ड

एंड्रॉइड डैशबोर्ड आपका डिजिटली ध्यान रखेगा। यह आपकी आदतों को समझेगा और आपको एप्स को स्विज ऑफ करने के लिए कहेगा। उदाहरण के तौर पर अगर आप यूट्यूब या किसी एप को अधिक देखते हैं तो यह एंड्रॉइड डैशबोर्ड आपको सलाह देगा कि आप थोड़ा सा ब्रेक लें और अपने परिवार सदस्यों या दोस्तों के साथ बातचीत कर लें।

स्मार्ट वॉल्यूम फंक्शन

एंड्रॉइड पी के नए ऑपरेटिंग सिस्टम में आपको वॉल्यूम इंटरफेस पर प्री सेट आइकन मिलेंगे, जिनमें म्यूट, वाइब्रेशन और फुल रिंग जैसे ऑप्शन है। इसकी मदद से आप जिस वीडियो के साउंड को नहीं सुनना चाहते है आप उसे एक टैब से म्यूट कर सकते हैं।

स्लाइसेज

स्लाइसेज आपको अधिक इस्तेमाल होने वाली ऐप के बारे में और अधिक जानकारी देता है।

न्यू DND मोड : Shush mode

एंड्रॉइड P में SUSH नाम का फीचर दिया गया है जो Do Not Disturb को शुरू कर देता है। इस दौरान डिस्प्ले पर किसी तरह के नोटिफिकेशन्स नहीं दिखाई देंगे। एंड्राइड P के साथ स्टेंडर्ड नेविगेशन आइकॉन को जेस्चर और क्रिएटिव सपोर्ट Notch के लिए दिया गया है।

  • Published Date: May 9, 2018 11:30 AM IST