comscore
News

WWDC 2018 : एप्पल लाएगा शेयर्ड AR प्लेटफॉर्म और प्राइवेसी पर भी करेगा बात

AR टूल से यूजर सेम वर्चुअल अॉब्जैक्ट को अपनी सभी अलग अलग डिवाइस से देख सकते हैं।

apple-arkit

हाल ही में हमने बताया था कि एप्पल 4 जून से शुरू होने वाले WWDC कार्यक्रम में ARKit 2.0 की घोषणा करेगा। यह AR प्लेटफॉर्म मल्टीप्लेयर AR गेम्स और कई अन्य सुविधाओं को सपोर्ट करेगा। अब एेसी खबरें आ रही हैं कि एप्पल एक टूल पेश कर सकता है जो दो iPhone यूजर को अपने स्मार्टफोन पर एक ही रियल्टी एक्सपीरियंस शेयर करने देगा। इसके अलावा एप्पल प्राइवेसी की चिंता पर भी बात करेगा।

एप्पल और गूगल दोनों ही कुछ समय से शेयर्ड AR पर काम कर रहे हैं। यह फीचर दो लोगों को अपने स्मार्टफोन के जरिए एक ही स्थान पर एक ही वर्चुअल ऑब्जेक्ट को देखने और उनके साथ बातचीत करने की अनुमति देता है। हालांकि, इस फीचर को इनेबल करने से प्राइवेसी की समस्या भी बढ़ जाती है, क्योंकि लोगों को अपने आस पास के एनवायरमेंट को स्कैन करने की जरुरत होती है (जो कि ज्यादातर मामलों में घर या पर्सनल प्लेस होगा) और दूसरे व्यक्ति द्वारा डाउनलोड किए जाने के लिए इसे क्लाउड सर्वर पर ऑनलाइन शेयर करना होगा।

गूगल का  मल्टीप्लेयर AR प्लेटफॉर्म क्लाउड एंकर्स भी इसी तरह काम करता है। इसका सिस्टम यूजर के द्वारा शेयर किये डाटा को क्लाउड सर्वर में रिकॉर्ड कर लेता है। हालांकि कंपनी सात दिनों में डाटा को हटाने का दावा भी करती है। एप्पल इस समस्या को समझता है और इसलिए एक अलग सिस्टम पर काम कर रहा है। एप्पल का AR शेयरिंग प्लेटफाॅर्म क्लाउड सर्वर पर किसी भी प्रकार के डेटा को शेयर करने की आवश्यकता को समाप्त करने के लिए सीधे फोन-टू-फोन पर काम करने के लिए डिजाइन किया गया है, जिससे इसे यूज करना अधिक सुरक्षित हो जाता है।

हालांकि इस तकनीक को लेकर अभी और भी कई प्रकार की चिंताएं सामने आई हैं जिन्हें अभी तक संबोधित नहीं किया गया है। फोन-टू-फोन एआर प्लेटफॉर्म को अपनाने से डिवाइस पर बहुत सी तकनीकी समस्याएं आ सकती हैं।

  • Published Date: June 4, 2018 10:18 PM IST