comscore
News

काल ड्रॉप के लिए बहाने नहीं बना सकतीं दूरसंचार कंपनियां: दूरसंचार सचिव

विभाग ने कंपनियों से कहा है कि वे इस मुद्दे के समाधान के लिए मिलकर काम करें।

  • Published: January 20, 2018 9:00 PM IST
smartphone-market

दूसंचार कंपनियों को कड़ा संदेश देते हुए दूरसंचार विभाग ने आज कहा कि वे कॉल ड्रॉप की बढ़ती समस्या के लिए इस तरह के बहाने नहीं बना सकतीं कि मोबाइल टावर लगाने में दिक्कत आ रही है। विभाग ने कंपनियों से कहा है कि वे इस मुद्दे के समाधान के लिए मिलकर काम करें।

दूरसंचार सचिव अरुणा सुंदरराजन ने पीटीआई भाषा को एक साक्षात्कार में कहा कि दूरसंचार विभाग 21 जनवरी के बाद इस बारे में कंपनियों के साथ बैठक करेगा। यह बैठक मोबाइल सेवाओं की गुणवत्ता के बारे में दूरसंचार नियामक ट्राई की रपट आने के बाद होगी।

सुंदरराजन ने कहा, ‘सरकार कॉल ड्रॉप व सेवाओं की गुणवत्ता को लेकर बहुत चिंतित है। हम उद्योग जगत को यह बताना चाहते हैं कि यही स्थिति बनी नहीं रह सकती और उन्हें सुधारात्मक कदम उठाने होंगे।’

टावर लगाने में मोबाइल कंपनियों को हो रही दिक्कतों को स्वीकार करते हुए उन्होंने कहा कि इसे कॉल ड्रॉप के लिए बहाना नहीं बनाया जा सकता। उन्होंने कहा कि कंपनियों को बुनियादी ढांचे के उन्नयन के लिए निवेश करना होगा।

दूरसंचार विभग ने राज्यों में दूरसंचार बुनियादी ढांचे से जुड़े मुद्दों को उठाया है। सुंदरराजन ने कहा, ‘उद्योग को मिलकर काम करना होगा। उन्हें बुनियादी ढांचे में और अधिक निवेश करना होगा।’

उल्लेखनीय है कि दूरसंचार नियामक ने कॉल ड्रॉप को लेकर नये नियम एक अक्तूबर से लागू किए। दिसंबर को समाप्त तिमाही के लिए इन नये नियमों के तहत पहली रपट आनी है। कॉल ड्रॉप से आशय मोबाइल से बात करते समय फोन कॉल का अचानक कट जाने से है।

  • Published Date: January 20, 2018 9:00 PM IST