comscore
News

BSNL के इस कदम से अंडमान आइलैंड्स को मिलेगी हाई कैपेसिटी वाली कनेक्टिविटी

इस केबल सिस्टम से अंडमान और निकोबार द्वीपों को वॉइस और डाटा कनेक्टिविटी के लिये पर्याप्त बैंडविड्थ मिलेगी।

bsnl

भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) और एनईसी टेक्नोलॉजीज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (एनईसीटीआई) ने एक महत्वपूर्ण घोषणा की है। इस घोषणा में बताया गया है कि बीएसएनएल ने एनईसीटीआई को चेन्नई और अंडमान निकोबार आइलेंड को जोड़ने वाले ऑप्टिकल सबमरीन केबल सिस्टम के डिजाइन, इंजीनियरिंग, आपूर्ति, स्थापन, परीक्षण और लागू करने का आदेश दिया है।

एनईसीटीआई की मूल कंपनी एनईसी कॉर्पोरेशन (टीएसईः 6701) ऑप्टिकल सबमरीन केबल का प्रोडक्शन करेगी और इस महत्वपूर्ण इंप्लिमेंटेशन के दौरान टेक्नोलॉजी की मदद देगी।

यह कॉन्ट्रैक्ट एक सिस्टम के लिए है, जिसमें चेन्नई से पोर्ट ब्लेयर तक रिपीटर्स का सेगमेंट है और रिपीटर्स के बिना सात सेगमेंट हैं, जो हेवलॉक, लिटिल अंडमान (हटबे), कार निकोबार, कामोर्टा, द ग्रेट निकोबार आइलैंड्स, लॉन्ग आईलैंड और रंगत आइलैंड के बीच हैं। केबल की कुल लंबाई लगभग 2,300 कि.मी. होगी, जो 100जीबी/एस ऑप्टिकल वेव्स का वहन करेगी।

इस केबल सिस्टम से अंडमान और निकोबार आइलैंड्स को वॉइस और डाटा कनेक्टिविटी के लिए बेहतर बैंडविड्थ मिलेगी, जिसमें ई-गवर्नेंस जैसे एंटरप्राइज और ई-कॉमर्स सुविधाओं की स्थापना जैसी पहलों को लागू करने में मदद मिलेगा।

बीएसएनएल के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक अनुपम श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘इस प्रतिष्ठित परियोजना के लिए एनईसी का चयन कर बीएसएनएल को काफी खुशी है। इस प्रोजेक्ट से अंडमान आइलैंड्स को उच्च क्षमता वाली कनेक्टिविटी मिलेगी और इस क्षेत्र में विकास के नए युग की शुरूआत होगी।’’

  • Published Date: July 12, 2018 9:53 AM IST