comscore
News

गूगल की गलती से आपके मोबाइल फोन में सेव हुआ था UIDAI का नंबर, माफी मांगी

एंड्रॉइड मोबाइल यूजर्स की फोन लिस्ट में UIDAI का हेल्पलाइन नंबर अपने आप ऑटोमेटिक सेव हो गया था।

aadhaar logo

पिछले दो दिनों में अचानक कई एंड्रॉइड मोबाइल यूजर्स की फोन लिस्ट में यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) का हेल्पलाइन नंबर अपने आप ऑटोमेटिक सेव हो गया था। इसके बाद यह सवाल गर्मा गया था कि आखिर कैसे यह नंबर एंड्रॉइड मोबाइल यूजर्स की फोन लिस्ट में सेव हो गया है। इसके बाद शुक्रवार को UIDAI ने स्पष्ट करते हुए कहा था कि इसके पीछे उसका कोई लेना देना नहीं है और न ही उसने किसी भी टेलीकॉम कंपनी को ऐसा करने का आदेश दिया है।

UIDAI ने ट्विटर पर बताया कि यूजर्स के फोन में जो नंबर सेव है वह 1800-300-1947 है और यह हेल्पलाइन नंबर काफी पुराना है। पिछले दो वर्षों से UIDAI का टोल फ्री नंबर 1947 है।

हालांकि अब इस गलती के पीछे गूगल का नाम सामने आया है और उसने अनजाने में हुई इस गलती पर सभी यूजर्स से माफी भी मांग ली है।
गूगल ने एक बयान में कहा, हम इस गलती के लिए माफी मांगते हैं। हम यह विश्वास दिलाना चाहते हैं कि यह एंड्रॉइड डिवाइस में जबरदस्ती और उनकी प्राइवेसी में बिना किसी इजाजत के प्रवेश करने का मामला नहीं है। यह सिर्फ एक अनजाने में हुई गलती से हुआ है। जिनके मोबाइल में यह नंबर सेव हुआ है वह इसे मैनुअली डिलीट कर सकते हैं।’

गूगल ने कहा कि 2014 में भारतीय स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों को दिए जाने वाले सेटअप में हमने उस समय का UIDAI हेल्पलाइन नंबर और इमरजेंसी हेल्पलाइन नंबर 112 कोड किया था। यह तभी से मौजूद है और ये नंबर यूजर की कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव होते हैं, इसलिए वे उनके नए डिवाइस के कॉन्टैक्ट में भी ट्रांसफर हो जाते हैं। गूगल के स्पोक्सपर्सन ने कहा, हम इसको लेकर लोगों की चिताएं समझते हैं। गूगल ने कहा है कि वह सेटअप विजर्ड की अगली रिलीज में इसे फिक्स कर देगी।

  • Published Date: August 4, 2018 10:32 AM IST