comscore
News

Google Doodle बनाकर लेखक-एक्टिविस्ट Mahasweta Devi के 92वें जन्मदिवस पर दे रहा आधारांजलि

Roman Magasaysay Award विजेता Mahasweta Devi को उनके महान साहित्य योगदान जैसे- 'Hajar Churashir Ma', 'Aranyer Adhikar', 'Agnigarbha', 'Rudali', और 'Sidhu Kanhur Daakey' जैसी महान रचनाओं के लिए जाना जाता है।

  • Published: January 14, 2018 9:34 AM IST
google doodle Mahasweta Devi

Google ने आज रविवार के दिन आधुनिक भारतीय साहित्यिक और एक्टिविस्ट Mahasweta Devi को उनकी 92वीं जयंती पर आधारांजलि अर्पित की है। इसके अलावा गूगल ने हर बार की तरह इस बार गझी एक डूडल बनाकर साहित्य प्रति इनके प्यार और आदिवासी एवं ग्रामीण लोगों के लिए उनकी आवाज को प्रदर्शित करने का सफल प्रयास किया है।

1926 में Decca ने जन्मी, Mahasweta Devi ने अपने जीवन काल में 100 से भी ज्यादा उपन्यास लिखे हैं, और इनमें से पहला 1956 में प्रकाशित हुआ रानी झांसी पर आधारित था। इसके अलावा उन्हें कुछ महान रचनाओं के लिए भी जाना जाता है – ‘Hajar Churashir Ma’, ‘Aranyer Adhikar’, ‘Agnigarbha’, ‘Rudali’, और ‘Sidhu Kanhur Daakey’ इन सभी महान रचनाओं ने इन्हें दुनियाभर में प्रसिद्द कर दिया था।

Mahasweta Devi ने देश में आदिवासियों के सशक्तिकरण के प्रति अपने जीवन को अर्पित कर दिया था, इसके अलावा ग्रामीण बंगाल में आम लोगों की उदासीनता से संबंधित मुद्दों को भी वह जीवन भर उठाती रही थी। इसके अलावा इन्होंने सिंगूर और नंदीग्राम में भूमि के जबरन अधिग्रहण के खिलाफ आवाज भी उठाई। उन्होंने एक बार ऐसा भी कहा था कि, “मेरा भारत अभी भी अंधेरे के एक पर्दे के पीछे रहता है”।

उनके उपन्यासों को गोविंद निहलानी की 1998 की फिल्म Hazar Chaurasi Ki Ma और Kalpana Lajmi की Rudali जैसी पुरस्कार विजेता फिल्मों में बदल दिया गया। आपको बता दें कि अपने जीवनकाल में उन्होंने अपने अनुकरणीय साहित्यिक कामों के लिए कई पुरस्कार जीते हैं। प्रसिद्ध लेखकों में से एक होने के नाते, Mahasweta Devi को देश के दूसरे उच्च नागरिक पुरस्कार पद्म विभूषण से भी सम्मानित किया गया था। उन्हें Ramon Magsaysay, Sahitya Akademi, और Jnanpith जैसे पुरुस्कारों से भी सम्मानित किया गया था। इस तरह के महान कार्यों में जीवन भर बिताने के बाद July, 2016 में Mahasweta Devi ने अपनी आखिरी सांस ली, और हमें छोड़कर इस दुनिया को विदा कह गईं।

  • Published Date: January 14, 2018 9:34 AM IST