comscore
News

Google I/O 2018: एंड्रॉइड P में होगा जेस्चर सपोर्ट और ये दमदार फीचर्स

कंपनी ने नए ओएस के यूजर इंटरफेस को और बेहतर बनाने पर काम किया है।

Android P new

गूगल एनुअल डेवलपर कॉन्फ्रेंस I/O 2018 को देखने के लिए 7,000 हजार से लोग पहुंचे हैं। कंपनी के सीईओ सुंदर पिचाई ने गूगूल कॉन्फ्रेंस की शुरुआत की। इस दौरान गूगल फोटो, जीमेल और कई नई घोषणाओं के साथ एंड्रॉइड P के बारे में जानकारी दी गई।

कंपनी ने एंड्रॉइड P के बारे में बात करते हुए कहा कि इसमें AI का खास ध्यान रखा गया है। एंड्रॉइड P में ऐडेप्टिव बैटरी फीचर दिया गया है जो मशीन लर्निंग को यूज करते हुए आपके स्मार्टफोन की बैटरी सेव करता है। यह प्रेडिक्ट करता है कि आप आगे कौन सा एप यूज करेंगे।

इसके अलावा एंड्रॉइड P में मशीन लर्निंग वाला ऐडेप्टिव ब्राइटनेस फीचर भी दिया गया है। कंपनी ने नए ओएस के यूजर इंटरफेस को और बेहतर बनाने पर काम किया है। एप ऐक्शन दिया गया है, जिसमें यूसेज के आधार पर यह जान लेता है कि आप आगे क्या करने वाले हैं मोबाइल में या क्या कर सकते हैं। इसके साथ ही कंपनी ने स्लाइसेस फीचर का भी हुआ ऐलान जो डेवेलपर्स को दिया जाएगा। डेवेलपर के लिए ML Kit लॉन्च किया गया है जो डेवेलप को मशीन लर्निंग ऐप्स में देने में मदद करेगा।

इसके साथ ही एंड्रॉइड P में डैशबोर्ड दिया गया है और डेवेलपर्स एप्स में ऐसा फीचर दे सकते हैं ताकि यूजर्स को ये पता चल सके कि उस एप में यूजर्स ने कितना टाइम स्पेंड किया है। इतना ही नहीं यूजर्स को यह भी बताया जाएगा कि उस एप में कब यूजर्स ने किस तरह का काम किया है। एंड्रॉइड P में SUSH नाम का फीचर दिया गया है जो Do Not Disturb को शुरू कर देता है। इस दौरान डिस्प्ले पर किसी तरह के नोटिफिकेशन्स नहीं दिखाई देंगे।

नए एंड्रॉइड में सिक्योरिटी को और भी बेहतर किया गया है। एंड्रॉइड P Beta को जारी कर दिया गया है। इसे पिक्सल और दूसरी कंपनियों के फ्लैगशिप स्मार्टफोन्स में आज से ही दिया जाएगा।

  • Published Date: May 9, 2018 12:09 AM IST