comscore
News

फीचर फोन के मुकाबले स्मार्टफोन से अधिक रेवेन्यू हासिल करेगा इंटेक्स

इंटेक्स टेक्नोलॉजी की डायरेक्टर Nidhi Markanday ने कहा कि कंपनी आने वाले क्वॉर्टर में जल्द ही अपने मार्केट शेयर को बढ़ा लेगी।

Nidhi Markanday, Director, Intex Technologies

देश की घरेलू कंपनी इंटेक्स एक समय सेल्स वॉल्यूम के लिहाज से देश की नंबर दो कंपनी की पोजिशन पर पहुंच गई थी। हालांकि ज्यादा समय तक कंपनी इस पोजिशन को बरकरार नहीं रख सकी। इसके पीछे चाइनीज स्मार्टफोन कंपनियों की भारत में एंट्री, 3G से 4G पर माइग्रेशन जैसी कई वजह थी। कंपनी एक बार फिर मार्केट में अपने नए एंट्री लेवल स्मार्टफोन को लॉन्च करने के लिए तैयार है, जिसे जुलाई 2018 के दूसरे हफ्ते में लॉन्च किया जा सकता है। कंपनी इसके जरिए मार्केट में अपनी खोए हुए मार्केट शेयर को फिर से हासिल करना चाहती है।

BGR India’s के अंकित शर्मा को दिए गए इंटरव्यू में इंटेक्स टेक्नोलॉजी की डायरेक्टर Nidhi Markanday ने कहा कि कंपनी आने वाले क्वॉर्टर में जल्द ही अपना मार्केट शेयर को बढ़ा लेगी। इसके अलावा उन्होंने कंपनी की योजनाओ से जुड़ी जानकारी भी दी।

इंटेक्स के लिए पिछला फाइनेंशियल ईयर कैसा रहा?
पिछला फाइनेंशियल ईयर कंपनी के लिए अच्छा था। कंज्यूमर ड्यूरेबल और आईटी बिजनेस से हमें अच्छा बिजनेस मिला। लेकिन अगर मोबाइल फोन बिजनेस को देखा जाए तो हमें इसमें थोड़ी गिरावट देखने को मिली। पिछले फाइनेंशियल ईयर में हम ही ऐसी घरेलू कंपनी नहीं थे जिसके मोबाइल बिजनेस में गिरावट आई हो। हालांकि सभी चुनौतियों के बावजूद हमारा मानना है कि हमारा प्रदर्शन अच्छा रहा है। पिछले फाइनेंशियल ईयर में हमने जो मार्केट शेयर गंवाया है उसे हम इस वर्ष वापस पाने की कोशिश करेंगे।

2017-18 में कंपनी का टर्नओरवर कितना रहा? मौजूदा फाइनेंशियल ईयर के लिए कंपनी का क्या लक्ष्य है?
पिछले फाइनेंशियल ईयर के लिए अभी ऑडिटिंग चल रही है। हालांकि मोटे तौर पर यह 3,200 करोड़ के आसपासन रहेगा। यह आंकड़ा यकीनन पिछले फाइनेंशियल ईयर से कम होगा, लेकिन इसके पीछे कई वजह हैं। इसकी एक वजह नोटबंदी और दूसरी वजह जीएसटी का लागू होना है। चाइनीज कंपनियों की एंट्री और जियो के फीचर फोन में एंट्री भी एक और वजह है। इसके अलावा 3G से 4G पर माइग्रेशन से भी असर हुआ है। ऐसे में अगर इन सभी चीजों को मिलाकर देखा जाए तो हमारा प्रदर्शन इस हिसाब से अच्छा है। मौजूदा फाइनेंशियल के लिए हमारा लक्ष्य 15% की ग्रोथ हासिल करना है।

रिलायंस के जियोफोन लॉन्च से मार्केट और आपके बिजनेस पर क्या प्रभाव पड़ा है?

जियो का प्रभाव सिर्फ एक कंपनी पर ही नहीं पूरे मार्केट पर पड़ा। जियो का सबसे बड़ा असर फीचर फोन मार्केट में देखने को मिला। जियो फोन के लॉन्च से 2.8-इंच फीचर फोन का मार्केट बिल्कुल खत्म हो गया है। इसके पीछे वजह यह है कि हमारे 2.8-इंच वाले फीचर फोन और जियो के 4G फीचर का प्राइस बिल्कुल एकसमान है। इसके अलावा जियो के आने से 1.8 और 2.4-इंच वाले फीचर फोन का मार्केट भी कम हो रहा है।

अभी फीचर फोन और स्मार्टफोन मार्केट में आपकी पोजिशन क्या है? क्या आपकी योजना मिड-रेंज प्राइस सेगमेंट में एंट्री करने की है?

कुछ रिपोर्ट के मुताबिक फीचर फोन सेगमेंट में हमारा मार्केट शेयर 15% के करीब है। इसी तरह अगर आप स्मार्टफोन मार्केट को प्राइस सेगमेंट के तौर पर देखें तो 5,000 रुपये तक के सेगमेंट में हमारी मजबूत पकड़ है। इसलिए इस सेगमेंट में हम अपनी पकड़ को किसी भी हालत में छोड़ नहीं सकते हैं। हमारा लक्ष्य हमेशा कस्टमर्स को वैल्य़ू फॉर मनी प्रॉडक्ट्स देना है। इसलिए हम इस साल 7,000 रुपये तक के सेगमेंट में ही स्मार्टफोन को लॉन्च करेंगे। स्मार्टफोन के अलावा स्पीकर और पावर बैंक सेगमेंट में हम नंबर वन हैं। वहीं LED TV मार्केट में भी हम पांचवें नंबर पर आ गए हैं।

क्या ऐसा है कि कंपनी किसी सेगमेंट में एंट्री करने से पहले उस सेगमेंट में डिमांड के बढ़ने का इंतजार करती है? आपने TV, AC और वॉशिंग मशीन सेगमेंट में ऐसे समय में एंट्री की जब डिमांड बहुत ज्यादा थी। आपको नहीं लगता की कंपनी की इस स्ट्रैटजी से कंज्यूमर्स को इनोवेशन नहीं मिलती?

नहीं ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। हम किसी सेगमेंट में उतरने का फैसले खुद लेते हैं, न की किसी और को देखकर। आज से करीब 20 साल पहले हमने IT प्रॉडक्ट्स से मार्केट में एंट्री की थी, और आज हम कई अलग-अलग प्रॉडक्ट कैटेगरी में हैं। हम देखतें हैं कि क्या मार्केट किसी किसी प्रॉडक्ट को लेकर तैयार है या नहीं। आज फुल व्यू डिस्प्ले का जमाना है और हम ऐसे पहले घरेलू ब्रांड हैं जो सबसे कम कीमत में ऐसा स्मार्टफोन पेश करेंगे। मैं यहां आपको स्मार्टफोन के प्राइस के बारे में जानकारी नहीं दे सकती लेकिन इतना यकीन से कह सकती हूं कि इंटेक्स घरेलू कंपनियों के मुकाबले सबसे सस्ता फुल व्यू डिस्प्ले वाला स्मार्टफोन 12 जुलाई को लॉन्च करेगी।
जहां तक इनोवेशन की बात है तो हमारी स्ट्रैटजी में इनोवेशन सबसे ऊपर रहती है। हमारा नया स्मार्टफोन बेहतरीन फीचर्स के साथ आएगा। जहां तक बात है AC, TV और वॉशिंग मशीन मार्केट में एंट्री करने की तो यह हमारी बिजनेस एक्सपैंशन प्लान का हिस्सा है, इसके जरिए हम मोबाइल फोन बिजनेस में अपनी निर्भरता को कम करना चाहते हैं।

इंटेक्स को अपना आधे से ज्यादा बिजनेस मोबाइल सेगमेंट से मिलता है। इस साल आपकी स्ट्रैटजी क्या होगी?

हां निश्चित तौर पर हमारे कुल टर्नओवर में मोबाइल सेगमेंट की हिस्सेदारी 50 से 55% तक है। पिछले साल तक हमारे मोबाइल बिजनेस में फीचर फोन और स्मार्टफोन की हिस्सेदारी रेवेन्यू का मामले में लगभग आधी-आधी थी। हालांकि मौजूदा फाइनेंशियल में हमें उम्मीद है कि स्मार्टफोन बिजनेस से हमें अधिक रेवेन्यू मिलेगा। मोबाइल बिजनेस में खासतौर पर स्मार्टफोन से हमें इस बार 70% रेवेन्यू मिलने की उम्मीद है।

इस साल इंटेक्स कितने डिवाइसिस लॉन्च करेगा?
जुलाई से सितंबर क्वॉर्टर में हमने छह स्मार्टफोन लॉन्च करने की योजना बनाई है। वहीं साल के अंत तक हम फीचर फोन और स्मार्टफोन समेत हम कुल 12 से 15 डिवाइस लॉन्च करेंगे। स्मार्टफोन के अलावा हम पावरबैंक, वॉशिंग मशीन, टीवी और स्पीकर कैटेगरी में कुल मिलाकर 20 से 25 प्रॉडक्ट्स लॉन्च करेंगे।

क्या आप फंड जुटाने के लिए IPO लाने की योजना बना रहे हैं, या फिर आपकी कोई एक्विजिशन की योजना है?
हमारी बैलेंस शीट मजबूत है। हमारे पास अपने एक्सपैंशन प्लान के लिए अच्छी मात्रा में फंडिंग उपलब्ध है। अभी हमारी फंड जुटाने की कोई योजना नहीं है, वहीं किसी कंपनी की एक्विजिशन में भी कोई दिलचस्पी नहीं है।

  • Published Date: July 9, 2018 11:40 AM IST