comscore
News

वनप्लस की योजना 'मेक इन इंडिया' निर्माण का विस्तार करने की: रिपोर्ट

अधिक स्थानीय निर्माण के साथ, वनप्लस लागतों में कटौती करने में सक्षम हो जाएगा और इंपोर्ट पर करों को कम कर सकता है।

  • Published: February 15, 2018 1:30 PM IST

शाओमी के नक्शेकदम पर चलते हुए वनप्लस भी भारत में अपने विनिर्माण का विस्तार करना चाहता है। कंपनी अपने आगामी उपकरणों के कंपोनेन्ट्स के स्रोतों के लिए घरेलू निर्माताओं के साथ बातचीत कर रही है। यह कदम इंपोर्ट कोस्ट और ड्यूटी को कम करने का प्रयास करता है।

वनप्लेस ने पहली बार 2015 में अपनी स्थानीय विनिर्माण योजना की घोषणा की और इसके साथ ही सरकार की ‘मेक इन इंडिया’ ड्राइव का समर्थन किया। दो साल बाद, अब अधिकतर ब्रांड घरेलू उत्पाद और उत्पादों की खरीद पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, ऐसे में वनप्लस अपने प्रमुख बाजार भारत में अपने समर्थन का विस्तार करने के लिए प्रतीत होता है।

केंद्रीय बजट 2018 के दौरान, वित्त मंत्री अरुण जेटली ने घोषणा की कि मोबाइल फोन पार्ट्स पर कस्टम ड्यूटी 20 प्रतिशत बढ़ा दी जाएगी। यह कदम end-consumer के लिए महंगे उपकरण ही नहीं बनाएगा, बल्कि प्रतिस्पर्धी बाजार में ब्रांडों को बनाए रखने में भी मुश्किल होगा।

वनप्लस का लक्ष्य उन लागतों को कम करने का है। भारत में वनप्लस के जनरल मैनेजर विकास अग्रवाल ने कहा कि कंपनी पहले ही भारत में स्मार्टफोन्स के पूरे पोर्टफोलियो को एकजुट कर रही है और अब, ‘Make in India’ रणनीति में गहराई से आगे बढ़ना चाहती है क्योंकि सरकार की नीतियां स्थानीय उत्पादकों के अनुकूल हैं।

अग्रवाल ने एक ईटी रिपोर्ट में कहा कि ‘हम स्थानीय घटक विनिर्माण या सोर्सिंग पर हमारी योजनाओं को अंतिम रूप दे रहे हैं। अगर योजना सफल हो जाती है, तो भारत संभावित रूप से यहां से निर्यात किए जाने वाले हैंडसेट के साथ हमारा वैश्विक विनिर्माण केंद्र बन सकता है।’

भारत को केवल OnePlus, Xiaomi और Oppo, जैसे मध्य-श्रेणी के ब्रांडों से ही स्मार्टफोन व्यवसाय करने के लिए एक बेहद आकर्षक बाजार के रूप में देखा जाता है, लेकिन एप्पल जैसे प्रीमियम श्रेणी भी हैं जो टेक्स और ड्यूटी में लंबे समय से मांग को मजबूत बाजार में स्थानीय स्तर पर घुसने का प्रयास कर रही हैं।

अग्रवाल का मानना है कि भारत में काम करने वाले ज्यादातर ब्रांडों में सेल्स वॉल्यूम नहीं है, ताकि स्थानीय असेंबली को सही ठहराया जा सके और केवल सैमसंग मेक इन इंडिया रणनीति का फायदा उठाने में सफल रही क्योंकि इसके प्रीमियम स्मार्टफोन्स को स्थानीय रूप से तैयार किया गया है।

इस बीच, एक हालिया IDC रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि वनप्लस भारत में शीर्ष पांच स्मार्टफोन ब्रांडों में से एक है। दिलचस्प बात यह है कि, प्रीमियम स्मार्टफोन ब्रांड श्रेणी में, वनप्लस, सैमसंग को पार कर जाता है, और केवल एप्पल दूसरा लीडर है। वनप्लस 30,000 से अधिक के सेग्मेंट में आगे चल रहा है जहां बाजार हिस्सेदारी और लोकप्रियता के मामले में केवल ऐप्पल और सैमसंग प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं।

OnePlus 5T का लावा रेड कलर कंपनी द्वारा हाल ही में लॉन्च किया गया था। उम्मीद है कि वर्ष के पहले छमाही में कुछ समय में OnePlus 6 के उत्तराधिकारी पेश किए जाएंगे, इसके कुछ महीनों के दौरान OnePlus 6T भी पेश हो सकता है। अपनी भारत योजना के हिस्से के रूप में, वनप्लस ने हाल ही में देश में अपने पहले ऑफलाइन आॅथराइज्ड स्टोर को शुरू किया है। हब मुंबई में स्थित पहला अनुभव केंद्र है क्योंकि वनप्लस की ऑफलाइन खंड में अपनी उपस्थिति बढ़ाने की है।

You Might be Interested

OnePlus 5

32999

Buy Now
Android 7.1.1 Nougat with Oxygen OS 4.5.0
Qualcomm Snapdragon 835 Octa-Core 2.45GHz Processor
dual camera 16 MP + 20 MP with Dual LED Flash
  • Published Date: February 15, 2018 1:30 PM IST