comscore
News

जियोफोन के मेक इन इंडिया नहीं होने पर कंपनी ने दिया यह जवाब

रिलायंस पर आरोप है कि वह 4जी फीचरफोन दूसरे देश से इंपोर्ट कर रही है।

Jiophone 2 vs jiophone

रिलायंस ने एक स्पष्टीकरण जारी कर कहा है कि वह जियोफोन को भारत में ही बनाता है। कंपनी ने मोबाइल एसोसिएशन (टीएमए) के आरोप लगाने के बाद यह जानकारी दी है। रिलायंस पर आरोप था कि वह 4जी फीचरफोन जियोफोन दूसरे देश से इंपोर्ट कर रही है।

इकनॉमिक टाइम्स के अनुसार जियो पर द मोबाइल एसोसिएशन (TMA) ने आरोप लगाया था कि मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज जियोफोन को भारत में नहीं बना रही है। एसोसिएशन ने दावा किया है कि रिलायंस इंडोनेशिया के माध्यम से जियोफोन और आने वाले जियोफोन 2 डिवाइस को आयात करके इंपोर्ट ड्यूटी चुकाने से बचने की कोशिश कर रही है।

TMA की मोबाइल एडवाइजरी कमेटी के चेयरमैन भूपेश रसीन ने कहा है कि जियोफोन डिवाइसेज मेड इन इंडिया नहीं हैं। उन्होंने कहा कि जियोफोन दूसरे देश से इंपोर्ट कराया जा रहा है। वहीं, अब टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर (जियो) अब जीरो पर्सेंट कस्टम्स ड्यूटी का फायदा उठाने के लिए इंडोनेशिया से बड़ी मात्रा में डिवाइस को इंपोर्ट करने की योजना बना रहा है।

इन आरोप के जवाब में रिलायंस ने कहा है कि 15 अगस्त, 2018 से 2,999 रुपए की शुरुआती कीमत पर जियोफोन 2 उपलब्ध होगा जो कि भारत में निर्मित किया जा रहा है। वहीं, जियोफोन को भी भारत में स्थानीय रूप से निर्मित किया गया है। “रिलायंस ने 41वीं वार्षिक एजीएम में जियोफोन 2 की घोषणा के कुछ हफ्तों बाद ये दावा किया था कि कंपनी मौजूदा 2.5 करोड़ से 10 करोड़ तक जियोफोन का यूजर बेस बढ़ाने की योजना बना रही है।

  • Published Date: July 16, 2018 2:55 PM IST