comscore
News

एप्पल के FACE ID टेक्नोलॉजी को चुनौती देने के लिए सैमसंग कर रहा है ये काम

किसी भी स्मार्टफोन को सुरक्षित तरह से अनलॉक करने के लिए 3डी फेशियल रिक्गनेशन टेक्नोलॉजी सबसे अहम है।

samsung-galaxy-s9-main (1)

सैमसंग ने एप्पल की फेस आईटी तकनीक को चुनौती देने के लिए कमर कस ली है। बताया जा रहा है कि कंपनी ने एक नया पेटेंट फाइल किया है। यह नया फेस, आयरिश रिक्गनेशन बायोमैट्रिक कैमरा का है जो कि एप्पल की  Face ID तकनीक को चुनौती दे सकता है। बता दें कि किसी भी स्मार्टफोन को सुरक्षित तरह से अनलॉक करने के लिए 3डी फेशियल रिक्गनेशन टेक्नोलॉजी को बेहतर माना जाता है।

एप्पल ने पिछले साल अपने iPhone X में इस तकनीक का इस्तेमाल किया था। अब अफवाह है कि सैमसंग इस तकनीक को अपना रहा है। सैसमंग इस तकनीक को अपने आने वाले स्मार्टफोन गैलेक्सी एस10 में इस्तेमाल कर सकता है। एक नए पेटेंट रिपोर्ट में इस दावे की पुष्टि हुई है कि सैमसंग साल 2014 से ही इस पर काम कर रहा है।

नई रिपोर्ट के मुताबिक, एप्पल ने 3डी सेंसिंग और फेशियल रिक्गनेशन टेक्नोलॉजी के लिए पेटेंट फाइल किया है। यह पेटेंट अमेरिका में फाइल किया गया है। कंपनी ने साल 2014 में ही इसके लिए पेटेंट एप्लाई किया था। कहा जा रहा है कि सैसमंग इस टेक्नोलॉजी पर एप्पल से पहले से ही काम कर रहा था। रिपोर्ट में कहा गया है कि सैमसंग आयरिश स्कैनर को फ्लैगशिप स्मार्टफोन से बदलने पर विचार कर रहा है।

सैमसंग एक बायोमैट्रिक कैमरा सिस्टम इजात कर रहा है जो कि एनआईआर लाइट सोर्स में काम करेगा। यह यूजर्स के चेहरे पर लाइट को फ्लैश करेगा। इमेज सेंसर का कॉम्बीनेशन लाइट बाउसिंग बैक को कैप्चर करेगा। यह टेक्नोलॉजी टाइम ऑफ फ्लाइट (टीओएफ) के नाम से जानी जाएगी।

सैमसंग के नए पेटेंट में दावा किया गया है कि कंपनी प्रोक्सिमिटी सेंसिंग, मोशन ट्रैकिंग और जेस्चर डिडक्शन व नाइट वर्जन पर काम कर रही है।

 

You Might be Interested

Apple iPhone X

95390

iOS 11
A11 Bionic 64-bit chipset with M11 motion coprocessor
dual 12MP camera f/1.8 and f/2.8 apertures with dual OIS
  • Published Date: July 9, 2018 4:29 PM IST
  • Updated Date: July 9, 2018 5:47 PM IST