comscore
News
> > > सोशल मीडिया के नकारात्मक पक्ष ने कई कंपनियों की नींद खोली

सोशल मीडिया के नकारात्मक पक्ष ने कई कंपनियों की नींद खोली

फेसबुक और ट्विटर जैसे नेटवर्को पर जिस तरह की बहस और बातें हो रही हैं वे उनकी प्रतिष्ठा के लिए जोखिम बन कर उभरी हैं।

social-media

ब्रिटिश अमेरिकन टोबैको, इंफोसिस समेत दुनियाभर की कई नामी कंपनियों को सोशल मीडिया दुधारी तलवार नजर आने लगा है। वे इसमें जहां अच्छी कारोबारी संभावनाए दिखती हैं वहीं लगता है कि फेसबुक और ट्विटर जैसे नेटवर्को पर जिस तरह की बहस और बातें हो रही हैं वे उनकी प्रतिष्ठा के लिए जोखिम बन कर उभरी हैं। संबंधित नियामकों को दी गयी नवीनतम जानकारी में कई कंपनियों ने सोशल मीडिया के माध्यम से होने वाली बहस से अपने लिए संभावित जोखिमों की व्याख्या की है।

भारत की साफ्टवेयर सेवा निर्यातक इंफोसिस टेक्नोलाजीज ने बताया कि इन नेटवर्को से उसे किस तरह के Þजोखिमों Þ का सामना करना पड़ा है। कंपनी का कहना है कि कुछ गलत पोस्ट या आरोपों से निदेशक मंडल और वरिष्ठ प्रबंधन का ध्यान बंटता है और और यह कंपनी की प्रतिष्ठा को बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचा सकता है।

इसे भी देखें: माइक्रोसॉफ्ट ने लॉन्च किया हिडन फिंगरप्रिंट स्कैनर के साथ मॉडर्न की-बोर्ड

अमेरिका में सूचीबद्ध कंपनियों द्वारा दी गई नियामकीय जानकारियों के आकलन से पता चलता है कि इस तरह के जोखिम से कंपनी की प्रतिष्ठा के साथ-साथ निवेशकों के रूख और शेयर की कीमतें भी प्रभावित होती हैं। इसी तरह के जोखिमों को ब्रिटिश अमेरिकन टोबैको, रेनॉल्ड्स अमेरिकन इंक कंपनियों ने भी अपनी जानकारी में रेखांकित किए हैं।

इसे भी देखें: मोटोरोला ने भारत में लॉन्च किया Moto C Plus स्मार्टफोन, कीमत 6,999 रुपए

इसे भी देखें: Moto C Plus को टक्कर देंगे शाओमी Redmi 4, माइक्रोमैक्स Evok Power और कूलपैड Note 5 Lite, जानें क्या है अंतर