comscore
News

UIDAI ने सिक्योरिटी के लिए पेश किया वर्चुअल ID, जानें कैसे करेगा काम

ऑथोरिटी वर्चुअल आईडी को 1 मार्च 2018 से लेना शुरु करेगी।

  • Published: January 11, 2018 9:08 AM IST
aadhaar-card-image

आधार डाटा के लीक होने की खबरों के बीच आधार डाटा की सुरक्षा को देखते हुए यूनिक आइडेंटि‍फि‍केशन अथॉरि‍टी ऑफ इंडि‍या (UIDAI) ने वेरिफिकेशन के लिए वर्चुअल आईडी पेश किया है। आधार कार्ड होल्डर वेबसाइट पर जाकर वर्चुअल आईडी जनरेट कर सकेगा। इसका फायदा यह होगा कि अगर कोई यूजर वेरिफिकेशन के लिए अपना 12 अंक का आधार नंबर नहीं बताना चाहता है तो वह वर्चुअल आईडी दे सकता है।

आपको बता दें कि ऑथोरिटी 1 मार्च 2018 से इस एक्सेप्ट करना शुरु करेगी। वहीं, 1 जून से सभी एजेंसियां इस आईडी के जरिए भी वेरिफिकेशन करेंगी। वर्चुअल आईडी 16 डिजिट का होगा। इस आईडी का इस्तेमाल सिम वेरिफिकेशन, बैंक अकाउंट से लिंक करना औ आदि कामों के लिए किया जा सकेगा।

UIDAI ने सभी एजेंसियों को अपने प्रमाणीकरण और ईकेवाईसी सेवाओं का उपयोग करने के लिए निर्देश दे रहा है ताकि आधार धारक अपनी आवेदन के आधार पर आधार संख्या के बजाय 16-नंबर वाला वर्चुअल आईडी प्रदान कर सकें। अधिकारियों ने यह भी सीमरेखा किया है कि जो एजेंसियां समयसीमा तक वर्चुअल आईडी के लिए समर्थन को एकीकृत नहीं करती हैं, वह वित्तीय व्यस्कों का सामना करेंगे।

इसके अलावा, उपयोगकर्ता एक से अधिक वर्चुअल आईडी बना सकता है। हर वर्चुअल आईडी की एक एक्सपायरी डेट होगी। वहीं, नई वर्चुअल आईडी जनरेट होने पर पुरानी अपने आप कैंसल हो जाएगी।

दूसरी ओर ऑथोरिटी ने केवाईसी के लि‍ए आधार का इस्‍तेमाल सीमित करेगी। अभी कई एजेंसि‍यों के पास आपकी डि‍टेल पहुंच जाती है और वो उसे अपने पास रखते हैं। जब केवाईसी के लि‍ए आधार की जरूरत कम हो जाएगी तो कम ही ऐजेंसी होंगी, जि‍नके पास आपकी डि‍टेल होगी।

  • Published Date: January 11, 2018 9:08 AM IST