comscore
News

वियरेबल डिवाइस की मांग हुई धीमी

फिटनेस ट्रैकर्स से ज्यादा स्मार्टवॉच की वृद्धि दिखाई दे रही है।

  • Published: December 27, 2017 12:00 PM IST
pebble_smartwatch

एक रिसर्च फर्म के मुताबिक एक समय में काफी पॉपुलर रहे वियरेबल डिवाइस की मांग में कमी देखी गई है। वहीं, दूसरी ओर स्मार्ट स्पीकर्स को लेकर उपभोक्ताओं की रुचि बढ़ रही है। एप्पल वॉच जैसी उत्पादों के बावजूद, अमेरिका की आबादी का केवल 20 प्रतिशत अगले साल वियरेबल डिवाइस का उपयोग करेगा। ई-मार्केट ने पिछले सप्ताह एक रिपोर्ट में इस बात का जिक्र किया था।

अगर बात करें वियरेबल की सेल की, तो यह बढ़ा है लेकिन यह काफी धीमी गति से बढ़ा है। इस सेल में फिटनेस ट्रैकर्स भी शामिल है। वहीं, रिसर्च फर्म का कहना है कि साल 2019 में शुरू होने तक वियरेबल डिवाइस केवल एक अंक के आधार पर साल-दर-साल बढ़ेगा।

ईमार्केटियर का कहना है कि इसका कारण यह भी हो सकता है कि स्मार्टवॉच बहुत महंगी हैं। कुछ की कीमत लगभग 300 डॉलर से शुरू होती है और इसके अलावा कई वियरेबल डिवाइस एक स्मार्टफोन की तरह एक आइटम बन गए हैं।

अनुसंधान फर्म आईडीसी के अनुसार, दुनिया भर में वार्षिक स्मार्टवाच शिपमेंट अगले पांच वर्षों में दोगुने से ज्यादा होगी। साल 2021 तक यह 150 मिलियन यूनिट तक पहुंच जाएगी, जो कि अनुमानित 61.5 मिलियन से बढ़कर इस वर्ष काफी ज्यादा है।

वर्तमान में, फिटनेस बैंड के लिए शिपमेंट्स में सभी वियरेबल डिवाइस शिपमेंट्स का 40 प्रतिशत हिस्सा होता है, लेकिन 2021 तक यह आंकड़ा 21 प्रतिशत घट जाएगा। “ऐसे वेयिरेबल्स जल्द ही एक वस्तु बन कर रह जाएंगे।

  • Published Date: December 27, 2017 12:00 PM IST