comscore
News

इंडियन स्मार्टफोन कंपनियों के बाद अब चाइनीज कंपनियां एक दूसरे को दे रहीं टक्कर

चाइनीज कंपनी शाओमी को फायदा, ओप्पो और वीवो को सबसे ज्यादा नुकसान।

  • Updated: April 24, 2018 12:23 PM IST
xiaomi-india-stock-image-bgr

इंडियन स्मार्टफोन मार्केट में पिछले कुछ वर्षों में बड़ा बदलाव देखने को मिला है। चाइनीज स्मार्टफोन कंपनियों की एंट्री से इस सेक्टर में पहले से मौजूद कंपनियों की पोजिशन में बड़ा बदलाव हुआ है, जिसका सबसे बुरा असर भारतीय हैंडसेट कंपनियों को उठाना पड़ा है। भारतीय स्मार्टफोन मार्केट में अपनी पोजिशन मजबूत करने के बाद अब चाइनीज कंपनियां भारत में अपना मार्केट शेयर बढ़ाने के लिए एक-दूसरे से ही लड़ाई लड़ रही हैं।


चाइनीज कंपनी वीवो और ओप्पो का जहां पिछले साल भारतीय स्मार्टफोन मार्केट में कंबाइन मार्केट शेयर 22% था, वह अब घटकर 11% पर आ गया है। काउंटरप्वाइंट रिसर्च ने इंडियन स्मार्टफोन मार्केट को लेकर 2018 में क्वॉर्टर वन की रिपोर्ट पेश की है। इस रिपोर्ट से पता चलता है कि शाओमी को छोड़कर दूसरी चाइनीज कंपनियों वीवो, ओप्पो और लेनोवो के मार्केट शेयर में बड़ी गिरावट देखने को मिली है।

वीवो और ओप्पो ने हालांकि 2017 के बाद 2018 के पहले क्वॉर्टर में अपनी तीसरी और चौथी पोजिशन बरकरार रखी है, लेकिन इस दौरान इनके मार्केट शेयर में बड़ी गिरावट देखी गई है। वहीं दूसरी तरफ लेनोवो और मोटोरोला 2018 के पहले क्वॉर्टर में इंडियन स्मार्टफोन मार्केट के टॉप पांच ब्रांड्स में जगह बनाने में कामयाब नहीं हो पाएं हैं।

भारत में स्मार्टफोन का मार्केट

काउंटरप्वाइंट की 2018 के पहले क्वॉर्टर की रिपोर्ट के मुताबिक सबसे ज्यादा फायदा चाइनीज कंपनी शाओमी और ऑनर को हुआ है। इस दौरान शाओमी का मार्केट शेयर बढ़कर 31% हो गया है वहीं अॉनर ने भी भारत के टॉप पांच स्मार्टफोन ब्रांड्स में एंट्री की है। ऑनर का मार्केट शेयर बढ़कर 3.4% हो गया है। पिछले साल के इसी क्वॉर्टर में ऑनर का मार्केट शेयर महज 1.4% था। इस दौरान ऑनर का मार्केट शेयर बढ़कर लगभग दोगुना हो गया है। इस दौरान सैमसंग के मार्केट शेयर में मामूली बढ़ोतरी हुई है और वह दूसरे नंबर पर कायम है।

फीचर फोन का मार्केट

काउंटप्वाइंट रिपोर्ट के मुताबिक रिलायंस जियो ने इस सेगमेंट में एक साल से भी कम समय में बड़ा मार्केट शेयर हासिल कर लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक फीचर फोन के मार्केट में रिलायंस जियो का मार्केट शेयर 2018 के पहले क्वार्टर में 35.8% था, जबकि इस साल पहले इसी क्वॉर्टर मे जियो का इस सेगमेंट में कोई वर्चस्व नहीं था।

इस दौरान नोकिया (एचएमी ग्लोबल बैनर के तहत) ने भी जीरो से शुरूआत करते हुए 7.3% मार्केट शेयर हासिल कर लिया है। इस दौरान फीचर फोन सेगमेंट में सैमसंग को बड़ा नुकसान हुआ है। सैमसंग का मार्केट शेयर इस दौरान 25% से घटकर 10% से कम हो गया है।

  • Published Date: April 24, 2018 12:19 PM IST
  • Updated Date: April 24, 2018 12:23 PM IST