comscore
News

शाओमी अपने स्वामित्व वाला 'Mi Home' रिटेल स्टोर भारत में करेगा शुरू: रिपोर्ट

शाओमी अपने स्वयं के स्वामित्व वाले 'Mi Home' स्टोर को लॉन्च करने की योजना बना रही है और यह ऑफलाइन रीटेल स्पेस में अपने footprint का विस्तार करना है।

  • Published: February 15, 2018 2:01 PM IST
Mi-home-delhi-ncr

सरकार द्वारा एकल ब्रांड रिटेल स्टोर्स से संबंधित नियमों को हटा दिए जाने के बाद शाओमी भारत में कंपनी के स्वामित्व वाले स्टोर को लॉन्च करने की योजना बना रहा है। चीनी इलेक्ट्रॉनिक्स ब्रांड के पास भारत के सात शहरों में 23 Mi Home stores हैं, लेकिन वे फ्रैंचाइजी के स्वामित्व वाले हैं और शाओमी द्वारा मैनेज किए जाते हैं।

शाओमी का भारत में एक अभूतपूर्व साल 2017 था, जहां उसने चौथी तिमाही के अंत में सैमसंग से आगे जाकर प्रमुख स्मार्टफोन ब्रांड बनाया और आईडीसी ने कहा कि इसकी शिपमेंट साल-दर-साल में तीन गुना बढ़ गई है। कल दिल्ली में आयोजित एक इवेंट में कंपनी ने Redmi Note 5 को लॉन्च ​किया और इस दौरान शाओमी ने दावा किया कि पिछले साल उसने Redmi Note 4 स्मार्टफोन की 9.6 मिलियन यूनिट्स की बिक्री की थी।

शाओमी ऑनलाइन सेग्मेंट में अग्रणी स्मार्टफोन ब्रांड है, लेकिन यह खुद के ऑफलाइन रिटेल चैनल में भी विस्तार कर रहा है। आईडीसी का अनुमान है कि शाओमी ने पिछले वर्ष अपने ऑफलाइन चैनलों के माध्यम से 2 मिलियन से ज्यादा यूनिट बेचे हैं। ऑफलाइन बिक्री मुख्य रूप से अपने एमआई स्टोर और पसंदीदा रिटेल पार्टनर्स के ऑफलाइन विस्तार से प्रेरित है।

इसकी रेडमी सीरीज के 2017 में मजबूत मांग के चलते शाओमी को बिक्री के साथ 2 अरब डॉलर के पार होने का अनुमान है। कंपनी ने भारत में एमआई टीवी को शामिल करने के लिए अपनी पेशकश भी बढ़ा दी है, और अब बड़े शहरों और शहरों में स्वयं के स्वामित्व वाली ‘Mi Home’ रिटेल स्टोर्स के साथ अपनी पहुंच बढ़ाने की योजना बना रही है।

शाओमी इंडिया के एमडी मनु कुमार जैन का कहना है कि, ‘हां, मानदंडों में छूट का अर्थ है कि हम भारत में अपने खुद के स्टोर खोल सकते हैं। यह जल्द ही होगा, जैसा कि साल आगे बढ़ता है।’ जैन ने कहा कि कंपनी खुद-स्वामित्व वाली रिटेल स्टोर खोलने की संभावनाओं का मूल्यांकन कर रही है और उनका अध्ययन कर रही है। ‘अब यह समझ में आता है कि स्वचालित स्वीकृति आ गई है। हमें ऐसा करने से पहले सरकारी मंजूरी के माध्यम से जाने की जरूरत नहीं है।’

भारत सरकार ने इस साल जनवरी में विदेशी ब्रांडों को अपने खुद के स्टोर स्थापित करने के लिए एकल ब्रांड रिटेल मानदंडों को हटा दिया था। इस फैसले से एकल ब्रांड खुदरा चैनलों में 100 प्रतिशत विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) की अनुमति मिलती है, जो सरकार द्वारा पहले 49 प्रतिशत एफडीआई के विरोध में थी। मानदंडों में परिवर्तन विदेशी संस्थाओं को सरकारी मंजूरी के बिना दुकानों की स्थापना करने की अनुमति देता है, और स्थानीय सोर्सिंग मानदंडों को आसान बनाता है।

शाओमी को भारत में प्रमुख स्मार्टफोन ब्रांड बनने के लिए मुख्य रूप से अपने आक्रामक मूल्य निर्धारण और ऑनलाइन खुदरा अंतरिक्ष में मजबूत दृश्यता के कारण बन गए हैं। हालांकि, ब्रांड के पास अभी भी एक वितरण नेटवर्क की कमी है, क्योंकि ऑफ़लाइन खंड में सैमसंग के रूप में मजबूत है। एमआई होम स्टोर्स के प्रक्षेपण के साथ, और लगभग 1500 मिमी पसंदीदा स्टोर, ज़ियामी की 16 से अधिक शहरों में इसकी मौजूदगी है लेकिन ये सभी स्टोर मल्टी-ब्रैंड स्टोर्स हैं।

भारत में स्वयं के स्वामित्व वाले खुदरा स्टोर खोलने के लिए आवेदन प्रस्तुत करने के लिए शाओमी पहले ब्रांडों में से एक था। लेकिन उस समय प्रचलित 49 प्रतिशत एफडीआई मानदंडों के चलते बाधा दौड़ का सामना करना पड़ा। अब, ज़ियामी, सरकारी मंजूरी के बिना भारत में अपने स्वयं के स्वामित्व वाले स्टोर स्थापित कर सकती है।

स्व-स्वामित्व वाले स्टोर होने के लिए प्रमुख लाभ आपूर्ति श्रृंखला का बेहतर प्रबंधन होगा और महत्वपूर्ण बात यह है कि, शाओमी के उत्पादों को किसी भी अन्य प्रतिस्पर्धी ब्रांडों के साथ स्थान साझा नहीं करना पड़ेगा। इसके अलावा, शायामी को अपनी दुकानों की जरूरत होती है क्योंकि यह टीवी को शामिल करने के लिए अपने उत्पाद प्रसाद का विस्तार करता है, जो कि ज्यादातर ऑफलाइन चैनलों के माध्यम से खरीदा जाता है।

  • Published Date: February 15, 2018 2:01 PM IST