comscore
News

आपके आधार कार्ड को अभी नहीं मिलने वाली स्मार्ट चिप, यहाँ जानिये आखिर क्यों

UIDAI के CEO ने इस बात पर प्रकाश डाला है कि आखिर आधार को आने वाले किसी भी समय में एक स्मार्ट चिप क्यों नहीं मिलने वाली है।

  • Published: January 29, 2018 11:00 AM IST
aadhaar-card-image

भारत में आधार, यूनीक आइडेंटिफिकेशन सिस्टम को 2009 में पेश किया गया था। इसके लॉन्च होने के लगभग 8 सालों के समय में इसने दुनिया का सबसे बड़ा आइडेंटिफिकेशन प्रोजेक्ट बन गया है। हालाँकि यह 8 साल का समय इतना भी आसान नहीं रहा है। अब अगर चर्चा करें तो इस प्रोजेक्ट अपने 9वें साल में कदम रख चुका है। लेकिन अभी भी इसके साथ वही सवाल जुड़े हैं कि आखिर यह कितना सुरक्षित है, आखिर हमारे डाटा इसके साथ कितना सिक्योर है आदि।

अभी हल ही एक ट्विटर चैट में UIDAI के CEO Dr। Ajay Bhushan Pandey ने इन कई सवालों के जवाब दिए हैं। हमने भी इनसे एक सवाल किया था जो उस चिप से जुड़ा था जिसे आधार के साथ जोड़ने की बात की जा रही थी। इस सवाल बार BGR India को इन्होंने कुछ ऐसा जवाब दिया है।

उन्होंने कहा है कि, “आधार आपके बायोमेट्रिक और आपके मोबाइल नंबर पर आधारित एक डिजिटल पहचान है जो आधार से जुड़ा है। यह किसी भी स्मार्ट कार्ड या चिप पर आधारित नहीं है। क्योंकि यह बॉयोमीट्रिक्स पर आधारित है, इसलिए आधार में किसी भी चिप या किसी भी स्मार्ट कार्ड की कोई ज़रूरत नहीं है।”

कई देशों द्वारा चिप-सक्षम राष्ट्रीय पहचान कार्ड का उपयोग किया जाता है ऐसा करने का कारण निजी बॉयोमीट्रिक डाटा की चोरी को रोकने के लिए सुरक्षा की एक अतिरिक्त परत जोड़ना है। यह भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा 2015 में जारी परिपत्र के अनुसार अनिवार्य रूप से बैंक द्वारा जारी किए गए नए चिप-सक्षम डेबिट और क्रेडिट कार्ड के समान है।

इसकी तुलना में, आधार को यह बात भी अनोखा बनाती है कि इसमें एक 12 अंकों के अनूठे नंबर के रूप में कार्यान्वयन के उद्देश्य को आसान बनाता है, जो एक नागरिक की तस्वीर, दस उंगलियों के निशान, और एक अद्वितीय पहचान संख्या के लिए दो आईरिस स्कैन करता है।

एक नागरिक आगे बढ़कर यूआईडीएआई सर्वर पर संग्रहीत जानकारी के साथ अपने या अपने फिंगरप्रिंट की पुष्टि करके एक विस्तृत श्रृंखला की सेवाओं और त्वरित और सुविधाजनक प्रमाणीकरण तक पहुंच सकता है। हाल ही में, दूरसंचार कंपनियां विशेषकर रिलायंस जियो ने आधार आधारित प्रमाणीकरण को लागू करके अपनी पंजीकरण प्रक्रिया में तेजी लाई थी।

  • Published Date: January 29, 2018 11:00 AM IST