comscore
News

अमेरिका, चीन की जेडटीई के कारोबार को पटरी पर लाने की कोशिश

गौरतलब है कि जेडटीई विश्व की सबसे बड़ी दूरसंचार उपकरण निर्माता कंपनियों में से एक है।

zte-logo

अमेरिका और चीन संयुक्त रूप से बीजिंग की दूरसंचार उपकरण निर्माता कंपनी जेडटीई के कारोबार को वापस पटरी पर लाने की दिशा में काम कर रहे हैं। ट्रंप ने अप्रैल में जेडटीई पर अमेरिका से चिप खरीदने पर रोक लगा दी थी।

ट्रंप ने रविवार को ट्वीट कर कहा, “चीन के राष्ट्रपति शी और मैं मिलकर चीन की फोन कंपनी जेडटीई के कारोबार को वापस पटरी पर लाने की दिशा में काम कर रहे हैं।” उन्होंने कहा, “चीन में बड़ी संख्या में रोजगार चले गए। मैंने वाणिज्य विभाग से जेडटीई के कारोबार को पटरी पर लाने के निर्देश दिए हैं।”

गौरतलब है कि जेडटीई विश्व की सबसे बड़ी दूरसंचार उपकरण निर्माता कंपनियों में से एक है। अमेरिकी वाणिज्य विभाग ने अमेरिकी कंपनियों पर अपने उत्पाद जेडटीई को नहीं बेचने पर प्रतिबंध लगा दिया था, जिसके बाद जेडटीई का कारोबार वैश्विक स्तर पर प्रभावित हुआ था।

जेडटीई ने 2017 में स्वीकार किया था कि उसने अमेरिकी प्रौद्योगिकी को ईरान और कोरिया भेज कर अमेरिकी प्रतिबंधों का उल्लंघन किया है। उस पर बाद में 1.1 अरब डॉलर का जुर्माना लगाया गया था। जेडटीई ने निर्यात प्रतिबंध के बाद कहा था कि वह इस समस्या के समाधान के लिए सक्रिय रूप से संबंधित पक्षों के साथ बातचीत कर रही है।

  • Published Date: May 15, 2018 3:03 PM IST