comscore
News

10 में से 8 भारतीयों को सता रहा है आधार डाटा चोरी होने का डर: सर्वे

वेलोसिटी एमआर के शोध में सामने आया है कि 80 फीसदी भारतीय डाटा सिक्योरिटी को लेकर चिंतित हैं।

aadhaar-enrollment-stock-image

भारत में 10 में से 8 लोगों को आधार डाटा चोरी होने का डर सता रहा है। 5,800 लोगों पर की गई एक स्टडी में यह बात सामने आई है। इस शोध को मार्केट रिसर्च और एनालिसिस कंपनी वेलोसिटी एमआर ने किया है। वेलोसिटी एमआर के शोध में सामने आया है कि 80 फीसदी भारतीय डाटा सिक्योरिटी को लेकर चिंतित हैं। इस शोध का कहना है कि फेसबुक डाटा लीक प्रकरण के बाद आधार डाटा की सिक्‍योरिटी प्रमुख मुद्दा बन गया है।

शोध का कहना है कि लोगों को लगता है कि सरकार को उनके ऑनलाइन डाटा की सुरक्षा को लेकर कदम उठाने चाहिए। यह शोध दिल्‍ली, मुंबई, कोलकाता, हैदराबाद, बेंगलुरु, चेन्‍नई, अहमदाबाद और पुणे जैसे शहरों में की गई। वेलोसिटी एमआर के मैनेजिंग डायरेक्‍टर और CEO जेसल शाह का कहना है कि यूजर्स का डाटा किसी न  किसी फॉर्म में है। यह डाटा निजी जानकारी से लेकर फाइनेंशियल डाटा और बायोमेट्रिक डिटेल्‍स किसी भी रूप में मौजूद है। इस डाटा को विदेशी सर्वर्स पर एक्‍सेस किया जा सकता है।


यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) के चेयरमैन जे सत्‍यनारायण का कहना है कि आधार के लिए अब तक 121 करोड़ से ज्‍यादा भारतीय इनरॉल हो चुके हैं और 1900 करोड़ से ज्‍यादा ऑथेंटिकेशन के लिए आधार का इस्‍तेमाल किया जा चुका है।

 

  • Published Date: May 30, 2018 5:21 PM IST
  • Updated Date: May 30, 2018 5:51 PM IST