comscore
News

आधार डाटा पूरी तरह से सुरक्षित है: UIDAI

UIDAI ने डाटा लीक की खबर को नकारते हुए बयान जारी किया है।

  • Published: January 5, 2018 11:20 AM IST
aadhaar-card-image

आधार की सुरक्षा में चूक की खबर का खंडन करते हुए यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) ने आधार डाटा लीक की बात को नकारा दिया है। एक अंग्रेजी अखबार में दी गई जानकारी के अनुसार, पेटीएम पर सिर्फ 500 रुपए के आदान प्रदान के लिए, “agents” एक “gateway” बनाते हैं और फिर लॉगिन आईडी और पासवर्ड पास करते हैं। जिसके बाद आप पोर्टल में कोई आधार नंबर दर्ज कर सकते हैं और तुरन्त सभी डिटेल प्राप्त कर सकते हैं जैसे कि UIDAI को दिया गया किसी व्यक्ति का नाम, पता, पोस्टल कोड (पिन), फोटो, फोन नंबर और ईमेल आदि।

अथॉरिटी ने एक बयान The Tribune की रिपोर्ट को गलत बताते हुए कहा कि आधार सहित आपके सभी डाटा सुरक्षित हैं। वहीं, UIDAI ने ट्विटर पर इस रिपोर्ट को गलत बताया है। UIDAI का कहना है कि कुछ लोगों ने विशेष अधिकारियों को दी गई सुविधा का गलत फायदा उठाया है, जिसके जरिए किसी का आधार नंबर या एनरोलमेंट नंबर खो जाने पर उसकी जानकारी जुटाई जाती है। इससे केवल नाम और कुछ जानकारियां हासिल की जा सकती हैं, बायोमेट्रिक जानकारियां नहीं। इस सुविधा का इस्तेमाल करने वाले लोगों की भी जानकारी रखी जाती है और उनका पता लगाया जा सकता है। ऐसे में उसका गलत इस्तेमाल करने वालों का पता लगाना मुश्किल नहीं होगा।

अथॉरिटी का कहना है कि इस मामले से जुडें लोगों के खिलाफ FIR दर्ज करा दी गई है। यह भी कहा गया है कि बायोमेट्रिक डाटाबेस से किसी तरह की कोई जानकारी लीक नहीं हुई है। यह एकदम सुरक्षित है।

वहीं, सामने आई खबर में प्रकाशन ने 300 रुपए के पेमेंट के साथ इस तरह की घटना की पुष्टि की, जिसके लिए एजेंट ने “सॉफ्टवेयर” प्रदान किया, जो कि किसी भी व्यक्ति की आधार संख्या में प्रवेश करने के बाद आधार कार्ड की प्रिंटिंग की सुविधा प्रदान कर सके। जाहिर है, हैकर्स ने राजस्थान सरकार की वेबसाइट तक पहुंच हासिल कर ली है, जैसा कि “सॉफ्टवेयर” aadhaar.rajasthan.gov.in तक एक्सेस प्रदान किया गया है, जिसके माध्यम से कोई भी भारतीय नागरिकों के आधार कार्ड का उपयोग और प्रिंट कर सकता है।

  • Published Date: January 5, 2018 11:20 AM IST