comscore
News

एप्पल ने अपनी फेस आईडी पॉलिसी को बदला

एक शोधकर्ता ने एप विकसित किया है कि यह देखने के लिए कि एप्पल फेस आईडी कितना डाटा एकत्र करता है।

  • Published: December 4, 2017 2:20 PM IST
iphone x face id

एप्पल ने इस साल अपनी 10वीं सालगिरह के मौके पर पेश किए गए iPhone X के साथ बायोमेट्रिक ऑथिन्टिकेशन को 2D फेस स्कैन से 3D तक शिफ्ट किया। इसे फेस आईडी का नाम दिया गया। इस फीचर के सामने आने के साथ ही इस पर सवाल उठने लगे थे कि किस हद तक यह सेफ है। शोधकर्ताओं ने प्वाइंट किया कि फेस आईडी एक उपयोगकर्ता को छोड़ सकता है और उनकी व्यक्तिगत जानकारी हैकरों के साहयक हो सकती है। शोधकर्ताओं की यह चिंता कई प्रयोगों के बाद भी वैध साबित हुई।

पिछले महीने Reuters की रिपोर्ट से पता चला कि एप्पल के साथ तीसरे पक्ष के एप डेवलपर की समझौतों की शर्तों के अनुसार, ट्रू कैमरा “किसी ग्राहक के फोन पर बने रहने की आवश्यकता नहीं है” जिससे यह चिंताएं बढ़ गईं। इसके बजाए, इसे गैर-एप्पल सर्वर पर प्रसारित किया जा सकता है।

हालांकि, अब एप्पल ने इस बात का विश्वास दिलाया है कि सभी फेस आईडी का सभी डाटा फोन में सेव रहेगा। इसके अलावा “फेस आईडी का उपयोग करते समय, [थर्ड-पार्टी] एप को केवल ऑथिन्टिकेशन सफल होता है या नहीं ही इतना ही बताया जाएगा; यह फेस आईडी या फेस एनरोल से संबंधित डाटा तक पहुंच सकता है।”

इस बीच, यह मुद्दा अब फिर से उभर आया है। इसके बाद एक शोधकर्ता ने एक एप बनाया है, जो आपको दिखाता है कि फेस पर कितना डाटा एप्पल डेवलपर्स के लिए उपलब्ध हो रहा है। इससे पता चला है, उन्हें अपने पूरे चेहरे के 3D प्रिंट के लिए एक मॉडल तैयार करने की अनुमति देने के लिए पर्याप्त है।

PhoneArena (Washington पोस्ट के माध्यम से) ने बताया गया कि आपके फेस की एक वायरफ्रेम का प्रतिनिधित्व है और आपकी पलकें, मुंह और अन्य विशेषताओं में 52 अनूठी सूक्ष्म आंदोलनों का लाइव पढ़ना है। एप्स उस डाटा को अपने कंप्यूटर पर स्टोर कर सकता है।

You Might be Interested

Apple iPhone X

95390

iOS 11
A11 Bionic 64-bit chipset with M11 motion coprocessor
dual 12MP camera f/1.8 and f/2.8 apertures with dual OIS
  • Published Date: December 4, 2017 2:20 PM IST