comscore
News

भ्रामक विज्ञापन को लेकर एयरटेल से लेकर कई कंपनियों कि हुई खिंचाई

एएससीआई के उपभोक्ता शिकायत परिषद (सीसीसी) को अगस्त में कुल 193 शिकायतें मिली।

  • Published: October 26, 2017 11:00 PM IST
airtel-4g-services

विज्ञापन नियामक भारतीय विज्ञापन मानक परिषद (एएससीआई) ने अगस्त महीने में 114 भ्रामक विज्ञापनों के खिलाफ शिकायतों को सही माना। ये मामले हिंदुस्तान यूनिलिवर, भारती एयरटेल, अमेजन और डाबर इंडिया जैसी कंपनियों के खिलाफ हैं।

एएससीआई के उपभोक्ता शिकायत परिषद (सीसीसी) को अगस्त में कुल 193 शिकायतें मिली। उसने बयान में बताया कि सही पाये गये मामलों में स्वास्थ्य क्षेत्र के 51 मामले, शिक्षा के 31 मामले, खाद्य एवं पेय में 17 मामले, सौंदर्य प्रसाधन के पांच मामले तथा विविध क्षेत्रों के 10 मामले हैं। इसे भी देखें: Airtel ने गुजरात में लॉन्च की अपनी VoLTE सेवा

सीसीसी ने हिंदुस्तान यूनिलिवर को डव शैंपू के लिए खिंचाई करते हुए कहा कि उसने इसके विज्ञापन में अपने उत्पादन से बाल झड़ना कम दिखाकर अतिरेक के जरिये भ्रम फैलाया है। 100 प्रतिशत दाग मिटाने का दावा करने वाली उत्पाद फेयर एंड लवली के विज्ञापन को भी गलत माना गया। इसे भी देखें: शाओमी 2 नवंबर को भारत में लॉन्च करेगा नई स्मार्टफोन सीरीज

परिषद ने भारती एयरटेल के 244 रुपये के प्लान के विज्ञापन को भी भ्रामक पाया। अमेजन को पैराशुट हेयर ऑयल के विज्ञापन के लिए गलत पाया गया। कंपनी ने दावा किया था कि वह 149 रुपये न्यूनतम खुदरा मूल्य वाला यह तेल 142 रुपये में ऑफर के तहत बेच रही है। हालांकि इस उत्पाद की एमआरपी 135 रुपये है। डाबर के ऑडोमास के विज्ञापन को परिषद ने गलत पाया। इसे भी देखें: Xiaomi भारत में 7 नवम्बर को आयोजित करने जा रही है अपनी पहला MIUI पार्टनरशिप डे

  • Published Date: October 26, 2017 11:00 PM IST