comscore
News

सीओएआई का पक्षपात का आरोप आधारहीन: ट्राई

नियामक से सेल्यूलर आपरेटर्स एसोसिएशन आफ इंडिया (सीओएआई) को बिना आधार के आरोप लगाने के प्रति आगाह किया है।

  • Published: February 22, 2018 9:00 PM IST
TRAI

दूरसंचार नियामक ट्राई ने पर लगे पक्षपात के आरोप का खंडन करते हुए इसे आधारहीन बताया है। दूरसंचार कंपनियों के संगठन सीओएआई ने आरोप लगाया था कि उसके आदेश किसी एक कंपनी का पक्ष लेने वाले प्र​तीत होते हैं। नियामक से सेल्यूलर आपरेटर्स एसोसिएशन आफ इंडिया (सीओएआई) को बिना आधार के आरोप लगाने के प्रति आगाह किया है।

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकार (ट्राई) के सचिव एस के गुप्ता ने पीटीआई भाषा से बातचीत में जोर दिया कि नियामक पारदर्शी तरीके से काम करता है और सीओएआई को तो आरोप लगाने की आदत सी हो गई है।

गुप्ता ने कहा, ‘सीओएआई ने जो भी आरोप लगाए हैं उनमें कोई सार नहीं है। वे आधार हीन हैं।’ उन्होंने कहा कि ट्राई के आदेश व नियम विस्तृत परामर्श पत्र व भागीदारों के साथ खुली चर्चा के बाद ही आते हैं। उन्होंने कहा कि सीओएआई पहले भी इस तरह के आरोप लगाता रहा है।

इस बीच सीओएआई ने कहा कि उसके सदस्य कानूनी विकल्पों पर विचार कर रहे हैं और वे अपनी चिंताओं के बारे में दूरसंचार विभाग तथा प्रधानमंत्री कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं। संगठन की चिंता बाजार बिगाड़ू कीमतों को लेकर नियामक के फैसले के बारे में है।

इसका आरोप है कि ट्राई के आदेशों से केवल एक ही कंपनी को फायदा होता नजर आ रहा है। संगठन के महानिदेशक राजन मैथ्यूज ने कहा कि उसकी सदस्य कंपनियां भावी कदमों के बारे में एक दो हफ्तों में फैसला करेगा।

  • Published Date: February 22, 2018 9:00 PM IST