comscore
News

हाई कोर्ट ने डॉक्टर की याचिका पर यूट्यूब पर लगाया 9.5 लाख रुपये का जुर्माना

एक महिला डॉक्टर ने उनके खिलाफ यूट्यूब पर एक आपत्तिजनक वीडियो को हटाने के लिए कोर्ट में एक याचिका दायर की थी।

YouTube _Music

दिल्ली हाईकोर्ट के जज जस्टिस नजमी वजीरी ने एक याचिका पर फैसला सुनाते हुए यूट्यूब पर 9.5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। दरअसल एक याचिका में दिल्ली की एक महिला डॉक्टर ने उनके खिलाफ यूट्यूब पर एक आपत्तिजनक वीडियो को हटाने के लिए कोर्ट में एक याचिका दायर की थी, जिस पर कोर्ट ने यह फैसला सुनाया है। जस्टिस नजमी वजीरी ने कोर्ट का समय बर्बाद करने के लिए पिछले 64 दिनों में हुई 9 सुनवाई के लिए कंपनी को 50 हजार रुपये प्रति सुनवाई का जुर्माना भरने को कहा है।

यूट्यूब का अपने पक्ष में कहना था कि हम सिर्फ सुनिश्चित कर सकते हैं कि कोई भी यूजर्स डॉक्टर के खिलाफ उस आपत्तिजनक वीडियो तक न पहुंच पाए, लेकिन इसे हटाया नहीं जा सकता है। इससे पहले ट्रायल कोर्ट ने 2015 में यूट्यूब और गूगल को कॉन्टेंट हटाने के निर्देश दिए थे। पिछली 9 सुनवाई से कंपनी कोर्ट के आदेश का पालन करने के लिए अधिक समय की मांग कर रही थी। हालांकि अब 9वीं सुनवाई में कंपनी का कहना था कि कुछ तकनीकी दिक्कतों के चलते वह अभी कोर्ट के निर्देशों का पालन नहीं कर सकती है।

हालांकि कोर्ट ने कंपनी की दलीलों को स्वीकार नहीं किया और उस पर 9.5 लाख रुपये का जुर्माना लगा दिया गया है। कंपनी ने कहा है कि वह ट्रॉयल कोर्ट के आदेश को चुनौती देने वाली याचिका वापस लेना चाहता है, जिसे हाईकोर्ट ने मंजूर कर लिया है। जुर्माने की राशि में से एक लाख रुपये हाई कोर्ट के मीडिएशन एंड कॉन्सिलेशन सेंटर को दिया जाएगा।

  • Published Date: July 10, 2018 12:19 PM IST