comscore
News

ई-वे बिल प्लेटफार्म सभी प्रयोगकर्ताओं के लिए खोला गया, 14 राज्य परीक्षण में शामिल

जीएसटी नेटवर्क ने आज कहा कि ई-वे बिल प्लेटफार्म में 14 राज्य शामिल हो गए हैं और इसे सभी प्रयोगकर्ताओं के लिए परीक्षण को खोल दिया गया है।

  • Published: January 18, 2018 10:00 PM IST
online

जीएसटी नेटवर्क ने आज कहा कि ई-वे बिल प्लेटफार्म में 14 राज्य शामिल हो गए हैं और इसे सभी प्रयोगकर्ताओं के लिए परीक्षण को खोल दिया गया है। ई-वे बिल पोर्टल नेशनल इन्फार्मेटिक्स सेंटर (एनआईसी) ने विकसित किया है।

ई-वे बिल प्रणाली के लिए अलग आईटी ढांचा लगाया गया है। जीएसटीएन ने बयान में कहा कि यह नया ढांचा एक दिन में 40 लाख ई-वे बिल निकाल सकता है।

जीएसटीएन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रकाश कुमार ने कहा, ‘‘ई-वे बिल प्रणाली को शुरू करने के लिए एक अलग आईटी ढांचा स्थापित किया गया है। यह ढांचा पंजीकरण और प्रोसेसिंग के लिए लगाया गया है।’’ जिन चार राज्यों में ई-वे बिल प्रणाली लागू की गई है उनमें प्रतिदिन 1.4 लाख ई-वे बिल निकाले जा रहे हैं। ये चार राज्य हैं कर्नाटक, केरल, राजस्थान और उत्तराखंड।

हाल ही में माल एवं सेवा कर :जीएसटी: व्यवस्था के तहत ट्रांसपोर्टरों के लिए इलेक्ट्रानिक वे बिल या ई-वे बिल प्रणाली अब एक फरवरी से क्रियान्वित होगी। इस प्रणाली में ट्रांसपोर्टरों को राज्यों के बीच माल की आवाजाही के लिए ई-वे बिल साथ रखना होगा। इस कदम का मकसद कर चोरी को रोकना तथा राजस्व में 20 प्रिशत की बढ़ोतरी करना है।

  • Published Date: January 18, 2018 10:00 PM IST