comscore
News

फ्लिपकार्ट सौदा: वॉलमार्ट ने आयकर विभाग से कहा- 'सभी कर दायित्वों को करेंगे पूरा'

फ्लिपकार्ट के प्रमुख शेयरधारक जैसे सॉफ्टबैंक , नेस्पर्स , वेंचर फंड एसेल पार्टनर्स और ई - बे अपनी हिस्सेदारी बेचने के लिये तैयार हैं।

  • Updated: July 14, 2018 10:40 AM IST

अमेरिका की दिग्गज खुदरा कंपनी वॉलमार्ट ने भारतीय कर विभाग को भरोसा दिया है कि वह 16 अरब डॉलर के प्रस्तावित फ्लिपकार्ट सौदे से जुड़े सभी कर दायित्वों को पूरा करेगी। आयकर विभाग ने मई में वॉलमार्ट को चिट्ठी लिखकर कहा था कि वह आयकर अधिनियम की धारा 195 (2) के तहत कर देनदारी के बारे में दिशानिर्देश के वास्ते अनुरोध कर सकती है।

आयकर अधिनियम की धारा 195 के तहत , किसी सौदे की स्थिति में देश के बाहर रह रहे व्यक्ति / इकाई को भुगतान करते समय स्रोत पर कर कटौती की आवश्यकता होती है। इसे विदहोल्डिंग टैक्स भी कहते हैं। अधिकारी ने कहा , ” वॉलमार्ट ने चिट्ठी के जवाब में कहा कि वह सभी कर देनदारियों को पूरा करेगी। हालांकि , कंपनी ने कर देनदारी की गणना के संबंध में अभी तक आयकर विभाग से परामर्श के लिए संपर्क नहीं किया है। ”

फ्लिपकार्ट के प्रमुख शेयरधारक जैसे सॉफ्टबैंक , नेस्पर्स , वेंचर फंड एसेल पार्टनर्स और ई – बे अपनी हिस्सेदारी बेचने के लिये तैयार हैं। कंपनी के सह – संस्थापक सचिन बंसल भी अपने हिस्सेदारी वॉलमार्ट को बेचेंगे। इससे पहले आयकर विभाग ने कहा था कि वह इस सौदे के कर पहलू पर तभी कार्यवाही शुरू करेगा जब इसे जरूरी नियामकीय मंजूरी मिल जाएगी।

  • Published Date: July 14, 2018 10:31 AM IST
  • Updated Date: July 14, 2018 10:40 AM IST