comscore
News

दादासाहेब फाल्के की 148वीं जयंती पर गूगल ने बनाया डूडल

दादासाहब ने पहली फिल्म 15 हजार रुपए में बनाई थी।

  • Published: April 30, 2018 9:02 AM IST
google doodle dadasaheb phalke

गूगल ने आज अपने डूडल के जरिए भारतीय सिनेमा के जनक कहे जाने वाले दादासाहेब फाल्के के 148वें जन्मदिन पर उन्हें याद किया। दादासाहेब का जन्म 30 अप्रैल 1870 को महाराष्ट्र के नासिक शहर में हुआ था। उनका असली नाम दादासहेब नहीं बल्कि धुंडीराज गोविंद फाल्के था।

दादासाहेब की पिता का नाम शास्त्री फाल्के था जो कि संस्कृत के विद्धान थे। वह कुछ समय बात अपने परिवार के साथ नासिक से मुंबई आ बसे। दादासहेब ने अपनी पढ़ाई मुंबई में की थी। इसके बाद उन्होंने नाटक कंपनी में चित्रकार और पुरात्तव विभाग में फोटोग्राफर के तौर पर काम भी किया। इस काम को करने के बाद जब उनका मन इसमें नहीं लगा तो उन्होंने फिल्में बनाने का फैसला लिया।

लंदन में फिल्मों के बारे में सीखने के बाद वह भारत लौटे और मुंबई में फाल्के नाम की फिल्म कंपनी की स्थापना की। इसके बाद काफी परेशानियों का सामना करते हुए 15 हजार रुपए में पहली मराठी फिल्म बनाई। 40 मिनट की इस फिल्म को लोगों द्वारा काफी पसंद किया गया।

इसके बाद 16 फरवरी 1944 को उनका निधन हुआ। भारत सरकार ने 1969 में फाल्के के सम्मान में सिनेमा में उल्लेखनीय योगदान के लिए दादासाहब फाल्के पुरस्कार की स्थापना की। आज भारतीय सिनेमा के सर्वोच्च सम्मान के नाम से दादा साहेब फाल्के पुरस्कार को जाना जाता है।

  • Published Date: April 30, 2018 9:02 AM IST