comscore
News

गूगल ने अपने डूडल से बिग बैंग थ्योरी के फाउंडर Georges Lemaître को किया याद

17 मार्च 1934 को इन्हें किंग ल्योप्लॉड 3 द्वारा फ्रैंक्वी प्राइज दिया गया था जिसे बेल्जियम के सबसे बड़े साइंटिफिक अवॉर्ड में गिना जाता है।

Google doodle - Georges Lemaitre,

गूगल हमेशा समय-समय पर उन लोगों को याद करता है जिन्होंने समाज के कल्याण के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। आज गूगल ने विश्व प्रसिद्ध बेल्जियन एस्ट्रोनॉमर Georges Lemaître की 125वीं जयंती पर डूडल बनाया है। Lemaître ने सैद्धांतिक आधार पर दावा किया था कि ब्रह्मांड का विस्तार हो रहा है, और इसके बाद एडविन हबल ने भी इसकी पुष्टि की थी। Lemaître 1927 में मॉर्डन बिग बैंग थ्योरी तैयार करने के लिए जाना जाता है।

इस थ्योरी में बताया गया था कि यूनिवर्स का जन्म छोटे “सुपर-एटम” के एक बड़े विस्फोट से हुआ था, जिसे आज हबल लॉ के नाम से जाना जाता है उसको प्राप्त करने वाले यह पहले व्यक्ति थे, जिसे आज हबल कॉन्सटैंट कहा जाता है । इनका यह अनुमान हबल के आर्टिकल से 2 साल पहले 1927 में ही पब्लिश हो गया था।

Georges Lemaître का जन्म 17 जुलाई 1894 को बेल्जियम में हुआ था। 17 साल की उम्र में इन्होंने कैथोलिक यूनिवर्सिटी, ल्यूवेन से सिविल इंजिनियरिंग की पढ़ाई शुरू कर दी थी। Lemaître ने यूनिवर्स के जन्म की ‘बिग बैंग थ्योरी’ को भी तैयार किया था जिसे वह अपनी ‘हायपोथेसिस ऑफ द प्रीमेवल एटम’ या ‘कॉसमिक एग’ कहते थे। 1933 में Lemaître ने अल्बर्ट आइंस्टीन के साथ कैलिफोर्निया में सेमिनार की एक पूरी सीरीज अटेंड की थी।

1936 में इनको पॉन्टिफिकल अकेडमी ऑफ साइंस के मेम्बर के तौर पर चुना गया था, इसके बाद 1941 में इन्हें रॉयल अकेडमी ऑफ साइंस ऐंड आर्ट्स ऑफ बेल्जियम का सदस्य भी चुना गया था। इनके कई कार्यो के लिए इम्हें कई बार सम्मानित भी किया गया है। 17 मार्च 1934 को इन्हें किंग ल्योप्लॉड 3 द्वारा फ्रैंक्वी प्राइज दिया गया था जिसे बेल्जियम के सबसे बड़े साइंटिफिक अवॉर्ड में गिना जाता है। 1953 में इनको रॉयल ऐस्ट्रोनॉमिकल सोसायटी द्वारा एडिंग्टन मेडल से भी सम्मानित किया गया था। Georges Lemaître का निधन 20 जून 1966 को हो गया था।

  • Published Date: July 17, 2018 9:48 AM IST
  • Updated Date: July 17, 2018 9:50 AM IST