comscore
News

Google I/O 2018: पहले से ज्यादा फैमिलियर होगा गूगल असिस्टेंट

कंटीन्यू कन्वरसेशन के फीचर से आपको बार-बार अटेंशन के लिए हे गूगल नहीं कहना पड़ेगा।


गूगल एनुअल डेवलपर कॉन्फ्रेंस में कंपनी ने गूगल असिस्टेंट पर खास फोकस किया। कंपनी ने कहा कि अब गूगल असिस्टेंट पहले से ज्यादा फैमिलियर होगा। कंपनी ने गूगल असिस्टेंट के कई फीचरों का खुलासा किया और कहा कि अब यह पहले से ज्यादा कारगर होगा। कंपनी के सीईओ सुंदर पिचाई ने गगूल असिस्टेंट में छह नई वॉयस जोड़ने की बात कही। उन्होंने कहा कि अब आपको अटेंशन के लिए बार-बार हे गूगल नहीं कहना पड़ेगा। कंटीन्यू कन्वरसेशन के फीचर से आपको बार-बार अटेंशन के लिए हे गूगल नहीं कहना पड़ेगा।

अब गूगल असिस्टेंट अलग-अलग ऐक्सेंट में आपके सवालों का जवाब देगा। इसमें कई भाषाओं को जोड़ा गया है। Wavenet के जरिए अलग अलग वॉयस को मिलाया गया है। इसी साल जॉन लेजेंड की आवाज में गूगल असिस्टेंट आपको जवाब देगा। गूगल ने कहा कि 30 भाषाओं में 80 देशों में गूगल असिस्टेंट का सपोर्ट दिया जाएगा

इवेंट के दौरान गूगल के स्कॉट हफमेन ने एआई असिस्टेंट की मदद से बिना लंबी देरी तक बातचीत की। इस दौरान उन्होंने हे-गूगल का बार-बार नाम नहीं लिया। उन्होंने कहा कि इससे रियल लाइफ में काफी मदद मिलेगी।

एआई की मदद से गूगल असिस्टेंट काफी अच्छे मोड में आ जाएगा। यह आपको बड़ी विनम्रता से रिस्पॉन्ड करेगा। इस फीचर से बच्चों को काफी फायदा होगा और वह बड़े अच्छे लहजे से दूसरों से बात करना सीखेंगे। कंपनी ने कहा है कि अभी असिस्टेंट 50 करोड़ से अधिक डिवाइसों पर है और यह 5,000 से अधिक होम डिवाइसों पर काम करता है।

  • Published Date: May 9, 2018 12:15 AM IST