comscore
News

गूगल में तेजी से नौकरी छोड़ रहे हैं काले और Latinx कर्मचारी

गूगल ने अपनी एनुअल डायवर्सिटी रिपोर्ट जारी की है।

google sacks employee video cover

सर्च इंजन जाइंट गूगल ने अपनी एनुअल डायवर्सिटी रिपोर्ट जारी की है। इस रिपोर्ट से कंपनी में काम करने वाले लोगों के एट्रिशन रेट (नौकरी छोड़ने की दर) का पता चलता है। कंपनी ने जो रिपोर्ट पेश की है उसके मुताबिक कंपनी में काम करने वाले ब्लैक (काले) और लैटिनिक्स कर्मचारी वाइट और एशियाई कर्मचारियों के मुकाबले अधिक तेजी से नौकरी को छोड़ रहे हैं। कंपनी अपने वर्कफोर्स में डायवर्सिटी के लिए जानी जाती जाती है, ऐसे में यह आंकड़े कंपनी के लिए मुसीबत खड़ी कर सकते हैं।

गूगल के कुल वर्कफोर्स में ब्लैक (काले) एंप्लॉयीज की संख्या महज 2.5% ही बची है, जबकि लैटनिक्स एंप्लॉयीज की संख्या थोड़ी ज्यादा 3.6% है। अमेरिका के सेंसस ब्यूरो के मुताबिक कुल पॉप्यूलेशन में ब्लैक और लैटनिक्स लोगों की संख्या क्रमश: 13.3 प्रतिशत और 17.8 प्रतिशत है। वहीं गूगल की वर्कफोर्स में वाइट एंप्लॉयीज की संख्या 53.1 प्रतिशत और एशियन एंप्लॉयीज की संख्या 36.3 प्रतिशत है। गूगल ने कहा कि एट्रिशन रेट के इस आंकड़े ने उनके ज्यादा से ज्यादा डायवर्सिटी एंप्लॉयीज के मकसद को नुकसान पहुंचाया है। गूगल के चीफ डायवर्जन और इंक्लूजन ऑफिसर Danielle Brown ने कहा कि हम एट्रिशन रेट को कम करने पर लगातार काम करते रहते हैं। हम चाहते हैं कि हमारे वर्कफोर्स में तरह-तरह के लोग काम करे।

महिलाओं को अपने साथ बनाए रखने में सफल है कंपनी

गूगल के एनुअल एट्रिशन डाटा से यह भी पता चलता है कि कंपनी में महिलाओं के मुकाबले पुरूष ज्यादा तेजी से नौकरी छोड़ रहे हैं। इसका मतलब यह है कंपनी महिलाओं को अपने साथ बनाए रखने के लिए अच्छे से काम कर रहा है। गूगल के ओवरऑल डायवर्सिटी आंकड़ो से पता चलता है कि इसमें महिलाओं के आंकड़े में कोई फेरबदल नहीं हुआ है। कंपनी के कुल वर्कफोर्स में महिलाओं की संख्या 31% है , जो पिछले चार सालों से एकसमान है।

  • Published Date: June 15, 2018 10:49 AM IST