comscore
News

हथियारों के लिए आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस विकसित नहीं करेगा गूगल

गूगल के सीईओ सुंदर पिचई का कहना है कि गूगल हथियारों में इस्तेमाल के लिए आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस विकसित नहीं कर रहा है।

sundar-pichai-google

गूगल के सीईओ सुंदर पिचई का कहना है कि गूगल हथियारों में इस्तेमाल के लिए आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस विकसित नहीं कर रहा है। पेंटागन प्रोजेक्ट में भागीदारी को लेकर गूगल काफी  प्रतिक्रिया का सामना कर रहा है। गूगल ने हाल ही में घोषणा की है कि वो अब रक्षा विभाग के साथ  काम को जारी नहीं रख रहा है। गूगल रक्षा विभाग के साथ मावेन प्रोजेक्ट पर काम कर रहा था जो उसने अब छोड़ दिया है।

यह एक आर्टिफिशियल प्रोजेक्ट था जो ड्रोन स्ट्राइक पर चल रहा था। इसमें गूगल को ड्रोन हमलों की क्षमता को बढ़ाने का काम सौंपा गया था। गूगल के इस काम में साझेदारी को लेकर उसके ही कई कर्मचारियों में रोष था। इन कर्मचारियों ने इसे कंपनी के सिद्धांत के खिलाफ बताते हुए हस्ताक्षर अभियान चलाया था। हजारों कर्मचारियों ने हस्ताक्षर करके कहा था कि इस काम से कंपनी के नैतिक सिद्धातों का उल्लंघन हो रहा है।


इन कर्मचारियों का कहना था कि गूगल को युद्ध के व्यवसाय में हिस्सा नहीं लेना चाहिए। कर्मचारियों ने खत लिखकर अपना विरोध जताया था और इसे लेकर गूगल को चेतावनी भी दी थी। अब सुंदर पिचई का कहना है कि गूगल हथियारों के लिए कोई आर्टिफिशियल टेक्नोलॉजी नहीं बना रहा है।

  • Published Date: June 8, 2018 6:34 PM IST