comscore
News

दूरसंचार कंपनियों की वित्तीय दिक्कतों पर सरकार की नजर: सिन्हा

उन्होंने कहा कि दूरसंचार सफल कथा रहा है और सरकार इसकी निरंतरता सुनिश्चित करेगी।

  • Published: September 28, 2017 4:45 PM IST
manojsinha-telecom-minister

केंद्रीय संचार मंत्री मनोज सिन्हा ने आज कहा कि दूरसंचार क्षेत्र की वित्तीय दिक्कतों पर सरकार की निगाह है। उन्होंने उद्योग को आश्वस्त किया कि जरूरत पड़ने पर सरकार हस्तक्षेप करेगी। इंडिया मोबाइल कांग्रेस में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सिन्हा ने कहा कि भारतीय दूरसंचार क्षेत्र में दबाव के बारे में अंतर मंत्रालयी समूह के प्रस्तावों के कुछ पहलुओं पर कानूनी राय ली जा रही है। उन्होंने हालांकि इसका ब्योरा नहीं दिया।

उन्होंने स्वीकार किया कि इस क्षेत्र की कुछ कंपनियां वित्तीय दबाव महसूस कर रही हैं। उन्होंने कहा कि दूरसंचार सफल कथा रहा है और सरकार इसकी निरंतरता सुनिश्चित करेगी। इसे भी देखें: India Mobile Congress 2017: Ozo कैमरा करेगा 360 डिग्री व्यू को कवर

सिन्हा ने कहा,‘सरकार को वित्तीय दबाव की जानकारी है और जरूरत पड़ने पर हमने हस्तक्षेप किया है। भविष्य में भी जरूरत पड़ी तो हम हस्तक्षेप करेंगे।’ इस कार्यक्रम में दूरसंचार क्षेत्र के दो प्रमुख प्रतिद्वंद्वियों मुकेश अंबानी व सुनील भारती मित्तल ने क्षेत्र की वृद्धि के लिए ‘सहयोगात्मक दृष्टिकोण’ की वकालत की। इसका जिक्र करते हुए सिन्हा ने उम्मीद जताई कि ये दो प्रमुख हस्तियां डिजिटल इंडिया के सपने को अमली जामा पहनाने के लिए मिलकर काम करेंगी। इसे भी देखें: नोकिया 3310 3G वेरिएंट नए कलर के साथ हुआ लॉन्च, जानें कीमत और स्पेसिफिकेशन

ऊंचे शुल्क तथा नियामकीय ढांचे को लेकर भारत की सार्वजनिक आलोचना के बारे में सिन्हा ने कोई टिप्पणी से इन​कार किया। उन्होंने कहा कि दूरसंचार क्षेत्र की वित्तीय दिक्कतों को दूर करने के उपाय सुझाने के लिए अंतर मंत्रालयी समूह गठित किया गया था जिसकी रपट दूरसंचार आयोग के समक्ष रखी। आयोग ने रपट पर चर्चा की है और कुछ कानूनी राय मांगी जा रही है जिस पर अगली बैठक में फैसला होगा। इसे भी देखें: जानें कैसे करें 280 कैरेक्टर्स में ट्विट

  • Published Date: September 28, 2017 4:45 PM IST