comscore
News

इसरो आज लॉन्च करेगा GSAT-6A सैटेलाइट

जीसैट-6ए उच्च शक्ति का एस-बैंड संचार उपग्रह है।

  • Published: March 29, 2018 11:14 AM IST

अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भारत आज जीसैट-6ए के प्रक्षेपण के साथ यह वित्तवर्ष पूरा करेगा। जीसैट-6ए उच्च शक्ति का एस-बैंड संचार उपग्रह है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने कुछ समय पहले इश बात की जानकारी दी थी।

अंतरिक्ष एजेंसी के अनुसार, दस साल के जीवन काल वाले इस उपग्रह को भारतीय रॉकेट जियोसिनक्रोनस उपग्रह प्रक्षेपण यान (जीएसएलवी-एफ08) द्वारा कक्षा में स्थापित किया जाएगा।

यह उपग्रह विकसित प्रौद्योगिकियों के प्रदर्शन के लिए एक मंच प्रदान करेगा, जिसमें 6एम एस-बैंड अनफ्लेरेबल एटीना, हैंडहेल्ड ग्राउंड टर्मिनल व नेटवर्क प्रबंधन प्रौद्योगिकी शामिल हैं। ये उपग्रह आधारित मोबाइल संचार अनुप्रयोगों में उपयोगी हैं।

इंडियन रॉकेट की उड़ान के लिए 29 सितंबर को संचार उपग्रह जीएसएटी -6ए के साथ भारतीय रॉकेट की उड़ान के लिए नीचे उतरेगा। 28 मार्च को भारतीय अंतरिक्ष एजंसी ने कहा इसकी शुरुआत 1.56PM पर होगी।

बता दें कि श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केन्द्र के दूसरे लॉन्‍च पैड से प्रस्तावित जीएसएलवी- एफ08 का प्रक्षेपण गुरुवार शाम चार बजकर 56 मिनट पर होगा. यह इस प्रक्षेपण यान की 12वीं उड़ान होगी। इसरो के चेयरमैन के. सिवन ने आईएएनएस से कहा कि जीसैट-6ए के बाद एक नेविगेशन उपग्रह का प्रक्षेपण किया जाएगा, जो अगले वित्तवर्ष में लांच होगा।

Input: IANS

  • Published Date: March 29, 2018 11:14 AM IST