comscore
News

जियो ओपन सोर्स टेक्नॉलजीज के इस्तेमाल को प्रतिबद्ध

अंबानी के मुताबिक, हाल के दिनों में कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) हम सम सबकी जिंदगी की मुख्यधारा बन गई है।

  • Published: January 21, 2018 1:00 PM IST
Reliance-Jio

रिलायंस जियो के निदेशक आकाश अंबानी ने शुक्रवार को कहा कि जियो ग्राहकों को बेहतर सेवा का अनुभव दिलाने के लिए ओपन सोर्स टेक्नॉलजीज में योगदान करने व उसका उपयोग करने को लेकर प्रतिबद्ध है। इंडिया डिजिटल ओपन समिट के उद्घाटन भाषण में अंबानी ने कहा, “जियो के लिए ओपन सोर्स बहुत महत्वपूर्ण है। चाहे अंशदाता के रूप हो या फिर उपयोगकर्ता के रूप में, दोनों हमारे व्यवसाय की जरूरत हैं। लोग जब एलवाईएफ डिवाइस (रिलायंस लाइफ मोबाइल फोन), जियो फोन या जियो एप्लीकेशन का इस्तेमाल करते हैं तो उनके पास ओपन सोर्स टेक्नॉलजीज होती है और इससे उनकी जीवन पद्धति समृद्ध होती है।”

यह सम्मेलन यहां रिलायंस कॉरपोरेट पार्क में हो रहा है और रिलायंस जियो इसका प्रमुख भागीदार है। आकाश ने कहा, “हमारे चेयरमैन (मुकेश अंबानी) का मानना है कि भारत प्रौद्योगिकी संबंधी नवाचार में अग्रणी और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सुपरपावर बनने की ओर अग्रसर है और ओपन सोर्स कम्युनिटी में प्रेरक शक्ति का काम करेगा।”

अंबानी के मुताबिक, हाल के दिनों में कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) हम सम सबकी जिंदगी की मुख्यधारा बन गई है। उन्होंने कहा, “भारत में एआर/वीआर अर्थात संवर्धित वास्तविकता/आभासी वास्तविकता को जहां तक ग्रहण करने की बात है तो यह अभी आरंभिक चरण में ही है। लेकिन अगले पांच सालों में इसका बाजार में 50 फीसदी से भी ज्यादा संयोजित सालाना विकास दर रहेगा।”

  • Published Date: January 21, 2018 1:00 PM IST