comscore
News

आइडिया-वोडाफोन विलय के बाद बनने वाली इकाई के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला होंगे

सांविधिक मंजूरियों के बाद यह सौदा इस साल जून में पूरा होने की उम्मीद है।

  • Published: March 24, 2018 7:00 AM IST
vodafone and idea

आइडिया सेल्यूलर व वोडाफोन ग्रुप ने उनके विलय से बनने वाली इकाई के लिए नयी टीम कीआज घोषणा की। इसके तहत कुमार मंगलम बिड़ला नयी इकाई के गैर कार्यकारी चेयरमैन होंगे। बालेश शर्मा इस नयी इकाई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी( सीईओ) होंगे।

इस विलय के बाद उपभोक्ताओं की संख्या और राजस्व बाजार हिस्सेदारी के लिहाज से सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी अस्तित्व में आएगी। सांविधिक मंजूरियों के बाद यह सौदा इस साल जून में पूरा होने की उम्मीद है।

शर्मा फिलहाल वोडाफोन इंडिया के मुख्य परिचालन अधिकारी( सीओओ) हैं। वह कारोबारी रणनीति और उसके क्रियान्वयन के लिए जिम्मेदार होंगे। वह इस विलय वाली इकाई के एकीकरण के काम को भी देखेंगे।35 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ यह इकाई23 अरब डॉलर की होगी।

आइडिया सेल्यूलर ने शेयर बाजारों को सूचित किया है कि बालेश शर्मा नयी इकाई के सीईओ यानी मुख्य कार्याधिकारी होंगे। शर्मा इस समय वोडाफोन इंडिया के मुख्य परिचालन अधिकारी हैं।

आइडिया सेल्यूलर ने कहा है, ‘ आइडिया सेल्यूलर व वोडाफोन इंडिया की मौजूदा नेतृत्व टीमें अपने अलग- अलग कारोबारों का प्रबंधन जारी रखेंगी और विलय के प्रभावी होने तक प्रत्येक कंपनी के परिचालनगत निष्पादन के लिए जिम्मेदार होंगी।’

आइडिया सेल्यूलर के मुख्य वित्त अधिकारी( सीएफओ) अक्षय मूंदड़ा नयी इकाई के सीएफओ होंगे और वह वित्तीय परिचालन देखेंगे। आइडिया सेल्यूलर के उप प्रबंध निदेशक अम्बरीश जैने नई बनने वाली इकाई के सीओओ होंगे।

शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा गया है कि आदित्य बिड़ला समूह का इरादा आइडिया सेल्यूलर के मौजूदा प्रबंध निदेशक हिमांशु कपाणिया को विलय के बाद बनने वाली इकाई का गैर कार्यकारी बोर्ड सदस्य बनाने का है।

वोडाफोन इंडिया के सीईओ सुनील सूद वोडाफोन समूह एएमएपी( अफ्रीका, पश्चिम एशिया और एशिया प्रशांत) की नेतृत्व वाली टीम का हिस्सा बनेंगे। हाल में वोडाफोन इंडिया में सीएफओ बनने वाले मनीष दावर एकीकरण योजना, संचालन और क्रियान्वयन की जिम्मेदारी संभालेंगे।

  • Published Date: March 24, 2018 7:00 AM IST