comscore
News

पूर्ण सूर्य ग्रहण का अध्ययन करेंगे नासा के गुब्बारे

नासा आसमान में गुब्बारे भेजने के लिए अमेरिका में विद्यार्थियों की टीमों के साथ सहयोग कर रही है।

  • Published: July 30, 2017 11:00 PM IST
nasa (1)

नासा आसमान में गुब्बारे भेजने के लिए अमेरिका में विद्यार्थियों की टीमों के साथ सहयोग कर रही है। यह कदम एक अत्यंत अनोखे एवं व्यापक ग्रहण अवलोकन अभियान का हिस्सा है। इस अभियान से पृथ्वी के अलावा जीवन के बारे में समझ बढ़ाने में मदद मिलेगी।

नासा के ‘इक्लिप्स बैलून प्रोजेक्ट’ की अगुवाई मोनटाना स्टेट यूनिवर्सिटी की एंजेला डेस जार्डिन कर रही हैं। इसके तहत 50 से ज्यादा ऊंचाई तक जाने वाले गुब्बारे भेजे जाएंगे, जो 21 अगस्त के पूर्ण सूर्य ग्रहण के सजीव फुटेज अंतरिक्ष एजेंसी की वेबसाइट को भेजेंगे।

नासा कैलिफोर्निया की सिलिकॉन वैली के एमेस रिसर्च सेंटर के साथ कम कीमत के 34 गुब्बारे के प्रयोग के संचालन के लिए सहयोग करेगी। इन गुब्बारों को माइक्रोस्ट्रेट कहते हैं। ये धरती से परे जीवन की क्षमता का पता लगाएंगे।

इसे भी देखें: हुवावे Mate 10 फुल स्क्रीन डिसप्ले के साथ होगा लॉन्च

जार्डिन ने कहा, “इंटरनेट पर संजीव स्ट्रीमिंग से हम दुनियाभर के लोगों को ग्रहण को खास तरह से अनुभव करने का मौका दे रहे हैं, भले ही वे सीधे ग्रहण नहीं देख पाएं।”

इसे भी देखें: व्हाट्सएप ने पेश किया एप शॉर्टकट फीचर, जानें क्या है इसकी खासियत

हाल ही में नासा ने तेजी से घूर्णन करने वाले न्यूट्रॉन तारों का अध्ययन करने वाले दुनिया के पहले मिशन की तैयारी पूरी कर ली है। न्यूट्रॉन तारा ब्रह्मांड की सबसे घनी वस्तु है। नासा की योजना न्यूट्रॉन स्टार इंटीरियर कंपोजिशन एक्सप्लोरर (एनआईसीईआर) लॉन्च करने की है, जिसे स्पेस एक्स सीआरएस-11 कार्गो रिसप्लाई मिशन से अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र में तैनात किया जाएगा। स्पेस एक्स सीआरएस-11 को शनिवार को फॉल्कन रॉकेट से प्रक्षेपित किया जाएगा।

इसे भी देखें: लॉन्च के पहले लीक हुई Moto X4 स्मार्टफोन की कीमत

  • Published Date: July 30, 2017 11:00 PM IST