comscore
News

सूर्य को छूने के लिए नासा का Space ship आज भरेगा उड़ान

नासा ने गुरुवार को ही एक ट्वीट में कहा, "लांच टीम तकनीक मसलों पर काम कर रही है और 70 फीसदी संभावना है कि मौसम अनुकूल रहेगा।"

  • Published: August 11, 2018 8:49 AM IST
NASA-Pixabay

नासा का अंतरिक्ष यान सूर्य को स्पर्श करने के इरादे से शनिवार सुबह तड़के 3.33 बजे (भारतीय समयानुसार दोहपर एक बजे) फ्लोरिडा स्थित केप केनावेरल वायु सेना के अड्डे से कूच करेगा। छोटी कार के आकार के इस खोजी अंतरिक्षयान को सूर्य को छूने के लिए रवाना किया जाएगा।

इस खोजी अभियान का नाम भौतिक विज्ञानी ‘एगुजीन पार्कर’ के नाम पर रखा गया है। पार्कर ने पहली बार 1958 में सौर वात यानी सूर्य पर हवा के अस्तित्व की संभावना जताई थी। सौर वात आवेशित कणों और चुंबकीय क्षेत्रों की धारा है जो सूर्य से लगातार प्रवाहित होती रहती है।

नासा ने गुरुवार को ही एक ट्वीट में कहा, “लांच टीम तकनीक मसलों पर काम कर रही है और 70 फीसदी संभावना है कि मौसम अनुकूल रहेगा।”

बता दें कि अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी, नासा के सुरक्षा विशेषज्ञों ने स्पेसएक्स के फाल्कन-9 रॉकेट को अधिक शक्तिशाली बनाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली प्रौद्योगिकी से अंतरिक्ष यात्रियों की जान को खतरा होने की चेतावनी दी है।

अमेरिकी अखबार ‘वाशिंगटन पोस्ट’ की शनिवार की रिपोर्ट के मुताबिक, फाल्कन-9 को अधिक शक्तिशाली बनाने के लिए स्पेसएक्स ने प्रणोदक को अत्यंत कम तापमान पर रखने की योजना बनाई है, ताकि उसे सिकोड़कर छोटा किया जा सके और टैंक में समा सके। लेकिन इससे काफी खतरा पैदा हो सकता है।

  • Published Date: August 11, 2018 8:49 AM IST