comscore
News

अब पेटीएम क्यूआर के जरिये सीधे बैंक खाते में मिलेगा भुगतान

पेटीएम ने सोमवार को घोषणा की है कि पेटीएम क्यूआर के जरिये अब ऑफलाइन दुकानदार असीमित भुगतान सीधे अपने बैंक खातों में स्वीकार कर सकेंगे और वह भी 0 प्रतिशत शुल्क के साथ।

  • Published: December 18, 2017 6:00 PM IST
paytm-inbox

मोबाइल-फस्र्ट वित्तीय सेवा कंपनी पेटीएम ने सोमवार को घोषणा की है कि पेटीएम क्यूआर के जरिये अब ऑफलाइन दुकानदार असीमित भुगतान सीधे अपने बैंक खातों में स्वीकार कर सकेंगे और वह भी 0 प्रतिशत शुल्क के साथ। पेटीएम का कहना है कि अब ग्राहक अपनी पसंदीदा भुगतान विधियों जैसे पेटीएमए यूपीआईए कार्ड और नेट-बैंकिंग का इस्तेमाल करते हुए दुकानदार के आउटलेट पर स्कैन और पेमेंट कर सकते हैं।

कंपनी ने सोमवार को एक बयान में कहा कि पेटीएम का लक्ष्य सभी प्रमुख पेमेंट इंस्ट्रूमेंट्स के लिए सपोर्ट प्रदान करना है ताकि छोटे और बड़े दोनों ही तरह के व्यापारी और दुकानदार विभिन्न उपभोक्ताओं से भुगतान स्वीकार करने में लचीलापन हासिल कर सके। साथ ही वे इसका इस्तेमाल अपने कारोबार को बढ़ाने में कर सके।

देश भर में कंपनी की 10,000 मजबूत सेल्स टीमें इन-स्टोर मर्चेंट्स के साथ काम कर रही है। उन्हें पेटीएम क्यूआर का इस्तेमाल करने के अतिरिक्त लाभ और सुविधा समझने में मदद कर रही हैं। कंपनी इन दुकानदारों के प्रशिक्षण और उनमें जागरुकता बढ़ाने के लिए आने वाले साल में 500 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। ताकि इस पेशकश का न केवल प्रभाव क्षेत्र बल्कि इसकी स्वीकार्यता भी बढ़े।

पेटीएम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी किरण वसीरेड्डी ने कहा, “हम भारत में मोबाइल पेमेंट्स के मामले में सबसे आगे रहे हैं। आज पेटीएम को देश भर में लाखों बड़े रिटेल चेन के साथ-साथ छोटे स्टोरों में भी स्वीकार किया जाता है। हम अपने मर्चेंट पार्टनर्स के लिए बेस्ट-पेमेंट्स इंफ्रास्ट्रक्च र बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

उन्होंने कहा, “पेटीएम क्यूआर के साथ, हमारे मर्चेंट पार्टनर्स अब यूपीआई और कार्ड सहित कई भुगतान विधियों के माध्यम से सीधे अपने बैंक खातों में 0 प्रतिशत शुल्क पर भुगतान स्वीकार कर सकते हैं। ग्राहकों से भुगतान एकत्र करने की कोई मासिक सीमा भी नहीं है। हम अपने पेमेंट नेटवर्क के विस्तार पर उस समय तक निवेश करना जारी रखेंगे जब तक कि हर छोटे और बड़े व्यापारी को पेटीएम के साथ मोबाइल पेमेंट की शक्ति नहीं मिल जाती।”

  • Published Date: December 18, 2017 6:00 PM IST