comscore
News

फॉक्सवैगन स्कैंडल में पोर्श का अधिकारी गिरफ्तार

पोर्श द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले कार्यालयों और फैक्ट्रियों में छापेमारी।

  • Published: April 22, 2018 1:00 PM IST
volkswagen-polo-india

जर्मन पुलिस ने पोर्श एजी के एक वरिष्ठ अधिकारी को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने फॉक्सवैगन एजी के उत्सर्जन स्कैंडल में स्पोर्ट्स कार निर्माता के कथित रूप से संबंधों के सबूत ढूंढ़ने के मद्देनजर इस सप्ताह छापेमारी की थी, जिसके बाद यह गिरफ्तारी की गई। अभियोजकों ने यह जानकारी दी। समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, फॉक्सवैगन के स्वामित्व वाले और पोर्श द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले कार्यालयों और फैक्ट्रियों पर व्यापक छापेमारी की गई। इस छापेमारी में दो जर्मन राज्यों के 160 पुलिस अधिकारी और 30 जांचकर्ता शामिल थे।

पोर्श की संभावित संलिप्तता ने इस उत्सर्जन-धोखाधड़ी स्कैंडल में काफी व्यापक रूप दे दिया, जिसके कारण फॉक्सवैगन को 2,500 करोड़ डॉलर से ज्यादा की राशि जुर्माने, ग्राहकों को मुआवजे और कानूनी शुल्क के रूप में चुकानी पड़ी। जानकारों के मुताबिक, जांचकर्ताओं ने दस्तावेजों को खंगाला, मोबाइल फोन और कंप्यूटर ड्राइव की प्रतियां जब्त की थी। अभियोक्ता ने पोर्श में इंजन डेवलपमेंट के अध्यक्ष जोर्ग कर्नर को गिरफ्तार करने का आदेश दिया। जोर्ग के फरार होने की आशंका थी।

उन्होंने कहा, “जांच में पोश बोर्ड सदस्य व अनुसंधान व विकास प्रभारी माइकल स्टीनर और निम्न स्तर के इंजीनियर को भी निशाना बनाया गया है। इंजीनियर फिलहाल कंपनी में कार्यरत नहीं है।” पोर्श ने अभी तक अपने किसी अधिकारी पर कोई टिप्पणी नहीं की है।

  • Published Date: April 22, 2018 1:00 PM IST