comscore
News
> > > अब ट्रेन में m-Aadhaar के साथ भी कर सकते हैं सफर

अब ट्रेन में m-Aadhaar के साथ भी कर सकते हैं सफर

रिजर्व क्लास में यात्रा के दौरान m-Aadhaar को आईडी प्रूफ के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है।

m-aadhaar-app-bgr

रेल मंत्रालय ने m-Aadhaar को ट्रेन में यात्रा करने के दौरान आईडी प्रूफ के तौर पर मान्यता दे दी है। मोबाइल फोन पर मौजूद m-Aadhaar ही पहचान के लिए पर्याप्त होगा। रेलवे ने m-Aadhaar को पहचान के सबूत के रूप में स्वीकार कर लिया है। मंत्रालय के मुताबिक रेलवे की किसी भी रिजर्व क्लास में यात्रा के दौरान m-Aadhaar को आईडी प्रूफ के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। m-Aadhaar आधार कार्ड का ही डिजिटल वर्जन है।

यूनिक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने m-Aadhaar एप लॉन्च किया था। इस एप पर केवल वही आधार कार्ड डाउनलोड किया जा सकता है जो कि एप में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के साथ लिंक हो। रेलवे ने कहा है कि “यात्री द्वारा अपने मोबाइल पर पासवर्ड दर्ज करने के बाद दिखाए गए m-Aadhaar को भारतीय रेलवे के किसी भी आरक्षित वर्ग में यात्रा करने के लिए पहचान के प्रमाण के रूप में स्वीकार किया जाना चाहिए।”

आपको बता दें कि m-Aadhaar एक मोबाइल एप है, जो एंड्राइड प्लेटफॉर्म पर काम करता है। इस एप में यूजर्स अपना नाम, डेट ऑफ बर्थ, जेंडर, पते और फोटे के साथ आधार नंबर को जोड़ सकते हैं। फिर इस एप को आप आधार कार्ड की तरह ही रेल टिकट प्रूफ के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे भी देखें: असुस Zenfone 4 Selfie और Zenfone 4 Selfie Pro भारत में लॉन्च, जानें कीमत, स्पे​सिफिकेशन और फीचर्स

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में सरकार के उस कदम के खिलाफ दी गई याचिका पर सुनवाई जारी है, जिसमें सरकार ने सामाजिक कल्याण से जुड़ी योजनाओं के लिए आधार को अनिवार्य बनाने के लिए कहा है। इसे भी देखें: OLED: क्या आप जानते हैं कि आखिर क्या होती है OLED, और यह LCD से कितनी अलग है?

वहीं, सरकार ने आधार को पैन से लिंक करने की डेडलाइन को चार महीने के लिए बढ़ा दिया है। पहले आधार को पैन से लिंक करने की आखिरी तारीख 31 अगस्त थी, जिसके बाद सरकार ने डेट को आगे बढ़ा कर 31 सितंबर कर दिया था। वहीं, अब पैन कार्ड को आधार से लिंक करने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर कर दी गई है। सरकार द्वारा पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करने इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि कुछ आधार कार्ड होल्डर और पैन कार्ड होल्डर के नाम मेल नहीं कर रहा है। इसके साथ ही सरकार ने टैक्स रिटर्न भरने के लिए पैन कार्ड और आधार नंबर को अनिवार्य कर दिया है। इसका मतलब साफ है कि पैन को आधार से लिंक नहीं कराया तो मौजूदा वित्त वर्ष में इनकम टैक्स रिटर्न नहीं भर सकेंगे। इसे भी देखें: Spice V801 स्मार्टफोन भारत में हुआ लॉन्च, जानें कीमत, स्पेसिफिकेश और फीचर्स