comscore
News

रिलायंस जियो लाएगा अपनी खुद की cryptocurrency, JioCoin

रिलायंस जियो ने अपनी खुद की cyptocurrency, JioCoin बनाने की योजना बनाई है।

  • Published: January 12, 2018 9:34 AM IST
reliance-jio-mukesh-ambani-screengrab

Highlights

  • रिलायंस जियो ने अपनी खुद की cyptocurrency, JioCoin बनाने की योजना बनाई है।

टेलीकॉम सेक्टर में फ्री ऑफर और हाइपर-प्रतिस्पर्धी टैरिफ ऑफर करने के बाद अब रिलायंस जियो इन्फोकॉम लिमिटेड ने अपनी खुद की cyptocurrency, JioCoin बनाने की योजना बनाई है।

मुकेश अंबानी के बड़े बेटे आकाश अंबानी JioCoin प्रोजेक्ट को लीड करेंगे। livemint की रिपोर्ट के मुताबिक, JioCoin के लिए आकाश अंबानी के नेतृत्व में 50 प्रोफेशनल की एक टीम बनाई जाएगी। वहीं, इस टीम में 25 साल के लोग शामिल होंगे। यह टीम JioCoin के लिए ब्लॉकचेन तकनीक बनाएगी साथ ही इससे जुड़ी अन्य तकनीकी पहलुओं पर नजर रखेगी। बता दें कि पिछले साल 2017 में cyptocurrency काफी प्रोपुलर रहा है। लाखों लोगों ने cyptocurrency में निवेश करना और उसमें पैसे लगाने शुरू किए थे। वहीं, अब इस सेक्टर में रिलायंस जियो भी निवेश करने की योजना बना रहा है।

ब्लॉकचैन एक डिजिटल लेजर है, जो डाटा को स्टोर करता है, जिसमें वित्तीय ट्रांजेक्शन शामिल है, लेकिन यह लिमिटेड नहीं है। ब्लॉकचैन कॉपी किए बिना जानकारी decentralize करता है। यह जानकारी डाटाबेस के माध्यम से ब्लॉकचैन पर शेयर की जाती है, जिसे रियल-टाइम के आधार पर एक्सेस किया जा सकता है। यह डाटाबेस फिजिकल सर्वर पर स्टोर नहीं किया जाता है, लेकिन इसे क्लाउड पर स्टोर किया जाता है। क्लाउड पर अनलिमिटेड डाटा को आसानी से स्टोर किया जा सकता है।

टेक्नोलॉजी का सबसे लोकप्रिय एप्लिकेशन cryptocurrency रहा है। वहीं, अब रिलायंस जियो भी अपना खुद का वर्जन JioCoin बनाने की योजना बना रहा है। “जिसमें एक (एप्लिकेशन) cryptocurrency है। जिसमें हम स्मार्ट कॉन्टेक को deploy कर सकते हैं। इसका इस्तेमाल सप्लाई चैन मैनेजमेंट के लिए भी किया जा सकता है। इसके साथ ही loyalty पाइंट भी पूरी तरह से JioCoin पर आधारित हो सकते हैं।

गौरतलब है कि आभासी मुद्रा को लेकर सरकार और RBI ने पिछले दिनों कई बार चेतावनी जारी की थी। इसमें कहा था कि BitCoin जैसी cryptocurrency को मान्यता नहीं दी गई है और इसमें निवेश करना जोखिम भरा हो सकता है।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कुछ दिनों पहले कहा था कि यह कानूनी तौर पर मान्य मुद्रा नहीं है और सरकार की ओर से लोगों को किसी तरह की भरपाई नहीं की जाएगी। BitCoin जैसी आभासी मुद्रा कानूनी रूप से मान्य नहीं है और न सरकार का इसे वैध मुद्रा बनाने का कोई विचार है।

  • Published Date: January 12, 2018 9:34 AM IST