comscore
News

आधार से जुड़े प्रत्यक्ष लाभ अंतरण से 56 हजार करोड़ रुपये की बचत: पीएम मोदी

उन्होंने युवाओं को नवाचार के लिए प्रोत्साहित किये जाने पर जोर देते हुए नया भारत बनाने के लिए अंतरराष्ट्रीय तालमेल की पहल की।

  • Published: February 12, 2018 3:40 PM IST
pm-narendra-modi-getty-2

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ने करीब 400 सरकारी योजनाओं के तहत आधार से जुड़े प्रत्यक्ष लाभ अंतरण के जरिये 56 हजार करोड़ रुपये की बचत की है।

मोदी ने अर्थव्यवस्था की वृद्धि में प्रौद्योगिकी की भूमिका को अहम बताया। उन्होंने कहा कि भारत में एक समान कर प्रणाली यानी माल एवं सेवा कर (जीएसटी) सिर्फ आधार की वजह से संभव हो पाई है।

वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट में मुख्य वक्ता के तौर पर अपने भाषण में मोदी ने कहा कि सरकार के ई-मार्केट कार्यक्रम जीईएम के जरिये काफी कम समय में 4,500 करोड़ रुपये के लेन-देन हुए हैं। उन्होंने कहा कि जीईएम के जरिये छोटे से छोटे व्यापारी भी अपना सामान बेच सकते हैं।

मोदी ने कहा कि भारत अभी डिजिटल भुगतान के क्षेत्र में क्रांति से गुजर रहा है और तेजी से कम नकदी वाली अर्थव्यवस्था में तब्दील हो रहा है। स्टार्टअप इंडिया मिशन के बारे में उन्होंने कहा कि भारत इस कार्यक्रम के जरिये नवाचार की पारिस्थितिकी तैयार कर रहा है। देश पिछले दो साल में प्रमुख स्टार्टअप देश बन गया है।

उन्होंने कहा कि भारत की कुल आबादी में 65 प्रतिशत से अधिक 35 साल से कम उम्र के युवा हैं। उन्होंने युवाओं को नवाचार के लिए प्रोत्साहित किये जाने पर जोर देते हुए नया भारत बनाने के लिए अंतरराष्ट्रीय तालमेल की पहल की।

मोदी ने कहा कि प्रौद्योगिकी विचारों जैसी तेजी से बदल रही है और इसने उनके ‘न्यूनतम सरकार, अधिकतम प्रशासन’ के विचार को बढ़ावा दिया है जिससे आज आम लोगों की जिंदगी बदल गयी है।

मोदी ने 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के सरकार के लक्ष्य को प्राप्त करने में प्रौद्योगिकी की भूमिका के बारे में भूमि स्वास्थ्य कार्ड योजना और कृषि मंडी का उदाहरण दिया।

  • Published Date: February 12, 2018 3:40 PM IST